शायरी – किसके सहारे जीना है, तन्हाई ही तमन्ना है

love shayari hindi shayari


किसके सहारे जीना है
तन्हाई ही तमन्ना है

हम इस पार, तुम उस पार
बीच में नदी को बहना है

लम्हा दिन महीना बरस
दुख के किनारे मरना है

आधे-अधूरे जीवन पूरे
तेरे बिन अब रहना है


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari