सच्चा प्यार शायरी

शायरी – मेरे आंसुओं को वो कभी भुला न सकी

गुनाह ए इश्क का ऐसा गम पीया उसने खुद खाक में मिलकर ही दम लिया उसने पलट-पलट के मुझे देख जाने कितनी बार हंस-हंस के आंखों को नम किया उसनेगुनाह ए इश्क का ऐसा गम पीया उसने खुद खाक में मिलकर ही दम लिया उसने पलट-पलट के मुझे देख जाने कितनी बार हंस-हंस के आंखों को नम किया उसने

love shyari next

गुनाह ए इश्क का ऐसा गम पीया उसने
खुद खाक में मिलकर ही दम लिया उसने

पलट-पलट के मुझे देख जाने कितनी बार
हंस-हंस के आंखों को नम किया उसने

अपने ही हाथों से अपना दिल तोड़कर
घर के लोगों का दुख कम किया उसने

मेरे आंसुओं को वो कभी भुला न सकी
जिंदगीभर इस कदर ये गम लिया उसने

गुनाह ए इश्क- इश्क का गुनाह

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

Leave a Reply