गम शायरी

शायरी – तुझे भी अपना कोई जख्म हम दिखा न सके

शायरी वो तकलीफ जो दुनिया को हम बता न सके तुझे भी अपना कोई जख्म हम दिखा न सके

red pre red nex

वो तकलीफ जो दुनिया को हम बता न सके
तुझे भी अपना कोई जख्म हम दिखा न सके

जहां हर ओर बेवफाई के फूल ही खिलते हों
उस चमन में वफा के कांटों को बचा न सके

अजीब कशमकश में फंसी जिंदगी किधर जाए
अपने याद आते रहे ओर तुमको भुला न सके

अंजामे मोहब्बत बुरा ही होगा, ऐसा लगता है
रोज दिखती हो मगर गले से तुझे लगा न सके

©RajeevSingh

Advertisements

Leave a Reply