अपनी आंखों में एक समंदर शायरी

आंखों में समंदर शायरी फोटो

अपनी आंखों में एक समंदर को उतार चुका मैं

तेरी इबादत के लिए मैं दर्द के सारे फूल तोड़ा चुका। अब तो मेरा गुलशन भी उजड़ चुका। लेकिन आखिरकार तुम्हारी मोहब्बत का वो कतरा भी सूख गया जो मेरी आखिरी उम्मीद भी थी।

Leave a Reply