शायरी – टूटे फूल पे दिल ने अहसास लिखा है

new prev new shayari pic

टूटे फूल पे दिल ने अहसास लिखा है
सूखे पत्तों पर दर्द ने इतिहास लिखा है

खोने का गम तो वह पतझड़ बताएगा
जिसने मौसम को जिंदा लाश लिखा है

अपने घर को ताजमहल बनाने के लिए
दीवारों पर किसी ने मुमताज लिखा है

जिंदगीभर तेरे आसरे पर जीने वालों ने
हर सांस को तेरा ही मोहताज लिखा है

©राजीव सिंह शायरी

Advertisements

Leave a Reply