दर्द भरे शायरी

शायरी – दिल के घर में चुपके से वो

शायरी हमने ही तो आग लगाई बेशक उसने थी सुलगाई दिल के घर में चुपके से वो एक दीया थी लेकर आई

new prev new shayari pic

हमने ही तो आग लगाई
बेशक उसने थी सुलगाई

दिल के घर में चुपके से वो
एक दीया थी लेकर आई

जलकर खाक हुआ फिर भी
हमने उसकी जान बचाई

मरकर चला गया दीवाना
तुम देने नहीं आई विदाई

©राजीव सिंह शायरी

Advertisements

Leave a Reply