मरकर चला गया दीवाना शायरी पिक

दीवाना शायरी पिक

मरकर चला गया दीवाना
तुम देने नहीं आई विदाई

इश्का की आग तो वो ही लगाती है लेकिन उसमें आशिक को जलकर खाक होने पड़ता है। महबूबा की जान वो बचा लेता है।

Leave a Reply