मरकर चला गया दीवाना शायरी पिक

दीवाना शायरी पिक

मरकर चला गया दीवाना
तुम देने नहीं आई विदाई

Advertisements

इश्का की आग तो वो ही लगाती है लेकिन उसमें आशिक को जलकर खाक होने पड़ता है। महबूबा की जान वो बचा लेता है।

Advertisements

Leave a Reply