मुझमें खुशबू शायरी फोटो

तेरी खुशबू शायरी पिक

घुल जाती हो तुम मुझमें खुशबू बनकर
फूल जब भी सीने में तेरी यादों का खिला

इश्क बेपनाह दर्द देता है और तेरे बिना तनहाई भी सुकून नहीं देती। तेरी यादों के फूल सीने में खिलते हैं और आंखों में कांटे चुभते हैं।

Leave a Reply