मैं आंसू भी बहाऊं कैसे फोटो शायरी

आंसू बहाना फोटो शायरी

इश्क तुमसे किया, जमाने का सितम सहा
फिर भी तुम दूर हो हमसे, ये जताऊं कैसे

दर्द होठों से छलकते हैं मगर खामोशी उसे दबा लेती है। ये आवाज तुम तक कैसे पहुंचेगी, यही सोचता रहता हूं।

Leave a Reply