किसी मुकाम पर मेरे मंजिल का निशा फोटो शायरी

प्यार की मंजिल फोटो शायरी

किसी मुकाम पर तो होगा मेरे मंजिल का निशां
तेरी उंगली थामे बिना वहां तक चल नहीं पाएंगे

Advertisements

जिंदगी रात को करवटें बदलती है। तेरी यादों का सावन बरसता है और दिल भीगकर तेरे धूप की तलाश करता है।

Advertisements

Leave a Reply