इश्क में आशिक का खयाल फोटो शायरी

इश्क आशिक फोटो शायरी

मैंने अपनों को ये वसीयत दे रखी है
कि आप आएं मुझे कांधा देने के लिए

आशिक का दर्द कौन समझता है। सारी दुनिया और अपने लोग उसके खिलाफ हो जाते हैं और मौका पड़ने पर वह भी दगा दे जाती है।

Leave a Reply