सजा रहा हूं कांटों को अपने गुलशन में फोटो शायरी

इश्क कांटों का गुलशन फोटो शायरी

सजा रहा हूं कांटों को अपने गुलशन में
मेरे चमन को दीदार ए बहारां तो मिले

तेरी उम्मीद है तेरा इंतजार है, ऐसे हालात में जीना दुश्वार है। तेरा इश्क न जीने देता है, न मरने देता है।

Leave a Reply