ये हसीं नजारे सबकी नजर को फोटो शायरी

हंसी नजारा फोटो शायरी

बाजार की भीड़ में हैं जगमगाते जिस्म बहुत
ये हसीं नजारे सबकी नजर को अंधा कर गए

शहर की जिंदगी में प्यार कहां, लोगों को एक दूजे पर यहां ऐतबार कहां। तू कैसे मिलगी मुझे ऐ जानेजा, मोहब्बत की टूटती है यहां दीवार कहां।

Leave a Reply