दर्द के कातिल हाथों में शायरी फोटो

कातिल दर्द फोटो शायरी

दर्द के कातिल हाथों में टूटे सपनों का खंजर
रात के काले साये में रूह जख्मी हो चुका

Advertisements

वो ख्वाब दिखाती है, रातों में जगाती है, दर्द की चौखट पे आंखों को रुलाती है। इश्क का मातम क्यों जिंदगी मनाती है।

Advertisements

Leave a Reply