दर्द की निगाहों का फोटो शायरी

दर्द की निगाह फोटो शायरी

दर्द की निगाहों का ऐसा हुआ नजरो-करम
आंसुओं की बाढ़ में दिखता कोई मंजर नहीं

दूर तक तन्हाइयां उसकी राह तकती हैं, वो जाने कहां छुपती फिरती है मुझसे, इतना मोहब्बत है उससे फिर भी, जाने क्यों वो दूर रहती है मुझसे।

Leave a Reply