तेरे गम को सदमा कहते शायरी ईमेज

इश्क का सदमा शायरी ईमेज

मौत जब आ ही गई तो गिला क्या करें
जिंदा रहते तो तेरे गम को सदमा कहते

Advertisements

आग इश्क की दिल तक पहुंच गई, जिगर खाक होने तक वो पास न आई, दूर फिरती रही वो रकीबों की बाहों में, अपने आशिक की उसे एक पल भी याद न आई।

कमेंट्स यहां लिखें-

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s