उसकी तलाश में मेरी आंखें शायरी फोटो

आशिकी की तलाश शायरी फोटो

मेरे ही तसव्वुर में वो आता है बार-बार
उसकी तलाश में मेरी आंखें हैं परेशां

तेरी तलाश करती हूं जाने कबसे, शहर दर शहर भटक रही हूं मैं कबसे, तुम कहां हो मेरे आशिक, तुम्हारी राह देख रही हूं कबसे।

Leave a Reply