दुख भी है सुख भी है शायरी ईमेज

सुख दुख शायरी ईमेज

दिल के इन नश्तरों में दुख भी हैं, सुख भी हैं
कभी खिलेंगे गुलाब, कभी गुलशन उजड़ जाएगा

तेरे आने की उम्मीद में रो रहा है तन्हा इश्क, इस बेकरारी में कट रही है रातें, सुलगते दिल में कभी उजाला नहीं होता।

Leave a Reply