shayari – न जाने कब इश्क में इम्तहान आ जाए

shayari latest shayari new

उसकी मोहब्बत शायरी इमेज

न जाने कब इश्क में इम्तहान आ जाए
न जाने कब जिंदगी में तूफान आ  जाए

जल रहा है ये दीया उस रोशनी के लिए
जिसे पाकर बुझने का अरमान आ जाए

हम तो गुजार दें उस गली में ये जिंदगी
जिस रास्ते पर उसका मकान आ जाए

उससे इश्क में इसलिए हारता ही रहा
कि जीतकर उसे चैनो-आराम आ जाए

shayari green pre shayari green next

Advertisements

Leave a Reply