shayari – काश मुझसे वो कभी इजहार ए मोहब्बत कर पाती

shayari latest shayari new

मेरी हमसफर शायरी फोटो

काश मुझसे वो कभी इजहार ए मोहब्बत कर पाती
काश मैं जितना करता हूं, उतना प्यार वो कर पाती

उसको मेरी आठों पहर हर पल इतनी फिकर होती
कि कभी रूठ भी जाता तो आकर मुझे मना पाती

मेरे बुरे हालातों को जानकर भी वो मेरी हमसफर
मुझे अपनाकर मेरी जिंदगी का हमदर्द बन पाती

मेरे दिल में धड़कते इश्क की आवाज सुनकर वो
काश कभी अपनी चाहत का भी इकरार कर पाती

shayari green pre shayari green next

Advertisements

Leave a Reply