love story

love story of manjot singh from ludhiyana, punjab – लुधियाना से मंजोत सिंह की लव स्टोरी

हर रोज उसके फेस को मिरर में देखा। आज मुझे उससे दूर हुए 4 साल हो गए लेकिन आज भी हमेशा मेरी दुआ में उसका ही नाम आता है।

मैं मंजोत सिंह हूं। पंजाब के लुधियाना सिटी का रहनेवाला हूं। मैं 21 साल का हूं। 12th क्लास पास करने के बाद मैं सोच रहा था कि क्या करूं?

इसलिए टाइम पास करने के लिए मैंने एक कंप्यूटर इंस्टीट्यूट में एडमिशन ले ली। मुझे अभी वहां एक वीक ही हुआ था कि वहां एक लड़की आई।

पंजाब की लव स्टोरीतhx

पहली ही नजर में वो मुझे अच्छी लगी। धीरे-धीरे हम दोस्त बन गए। वो एक बहोत अच्छी इंसान थी और मैं उसे दिल ही दिल में चाहने लगा था।

लेकिन वो मुझसे 2-3 साल बड़ी थी इसलिए मैंने उसे प्रपोज करने का कभी नहीं सोचा।

धीरे-धीरे हम बेस्ट फ्रेंड बन गए। हम एक दूसरे के साथ सारी बातें शेयर करते थे। सब ठीक चल रहा था। एक दिन वो थोड़ी उदास लगी।

मैंने उससे पूछा कि क्या प्रॉब्लम है तो उसने बताया कि वो किसी से प्यार करती थी लेकिन वो लड़का फेक (fake) निकला।

इस बात ने मुझे पूरा तोड़ दिया। उस दिन मुझसे रहा नहीं गया। मैं उसे उदास नहीं देख सकता था इसलिए मैंने उससे कहा कि मैं तुमसे प्यार करता हूं और तुम्हें सारी लाइफ खुश रखूंगा।

लेकिन उस लड़की को तो प्यार वर्ड से भी नफरत हो चुकी थी।

उसके बाद हमारा मिलना कम हो गया। फिर उसने इंस्टीट्यूट छोड़ दिया। मेरा भी दिल वहां नहीं लगा और मैं विदेश में आ गया।

मैंने सोचा था कि इंडिया से बाहर जाके मैं थोड़ा खुश रहने लगूंगा लेकिन इंडिया और कनाडा क्या, मैं यहां भी उसकी याद में पल-पल तड़पा।

हर रोज उसके फेस को मिरर में देखा। आज मुझे उससे दूर हुए 4 साल हो गए लेकिन आज भी हमेशा मेरी दुआ में उसका ही नाम आता है।

1-2 बार उससे बात भी की फोन पर, मुझे दुख है कि मैंने उसका दिल तोड़ा, मुझे दुख है कि मैं एक अच्छा दोस्त नहीं बन पाया।

Advertisements

Leave a Reply