love story

गुजरात से दीया की लव स्टोरी – love story of diya from Gujarat

मैं अपने लवर को घर छोड़ने को बोलती हूं तो वह रो पड़ता है। जब वो रोता है तो मैं बहुत हर्ट होती हूं। अब मैं क्या करूं..कुछ भी समझ में नहीं आ रहा?

मैं एक लड़के से लव करती हूं। वो मेरा बचपन से फ्रेंड है। वह भी मुझे बहुत प्यार करता है। मैं जॉब करती हूं। वो भी पहले जॉब करता था लेकिन अब वह फैमिली बिजनेस संभालता है।gujarat love story

हमने घर पे हमारे रिश्ते की बात बताई। कास्ट अलग होने की वजह से घरवालों की ना ही थी।

फिर भी हम दोनों ने घरवालों की मीटिंग करवाई। पहली मीटिंग में सबने हमने समझाया कि मत करो ऐसा, अभी अच्छा लग रहा है फिर कास्ट प्रॉब्लम की वजह से बहुत प्रॉब्लम आएगी।

पर हम नहीं माने। हमने घरवालों को मनाने की कोशिश जारी रखी। फाइनली सबको लगा कि हम दोनों नहीं मानेंगे तो दोनों के घरवाले एग्री हो गए। उसके मॉम ने भी हां बोला।

लेकिन दूसरी मीटिंग हुई तो मेरे घरवाले उसके घर रिश्ता पक्का करने गए तो उस लड़के की मॉम ने कुछ कंडीशंस रखी और थोड़ा उनका बिहेव भी सही नहीं लगा सबको।

उसकी मॉम ने जैसे मजबूरी में हां की थी, ऐसा सबको लगा। तो मेरे घरवालों को ये पसंद नहीं आया।
————
एक तरह से मेरे घरवालों ये इंसल्ट जैसा लगा। उसके बाद वे मुझसे कहने लगे कि उस घर में अब नहीं जाने देंगे। लड़का अपनी मॉम को समझाता रहा। 2 महीने बाद अब उसकी मॉम कह रही है वह मेरी मम्मी से बात करेगी।

पर अब ऐसा होने के बाद मेरे घरवाले ना बोल रहे हैं। वे कह रहे हैं कि चाहे कुछ भी हो जाए..शादी नहीं करवाएंगे अब। अब मेरे घरवाले उसकी मॉम पर जरा भी भरोसा करने को राजी नहीं है।

मैं अपने लवर को घर छोड़ने को बोलती हूं तो वह रो पड़ता है। जब वो रोता है तो मैं बहुत हर्ट होती हूं। अब मैं क्या करूं..कुछ भी समझ में नहीं आ रहा?

Advertisements

Leave a Reply