लव स्टोरी दिल्ली

दिल्ली से भारती की प्रेम कहानी – Love story of Bharati from delhi

मेरा नाम भारती है। 2014 के मई की बात है जब मैं नोएडा में जॉब करती थी। हमारे साथ एक लड़का था जिसका नाम नितिन था।

लव स्टोरी दिल्ली

नितिन को मैं बिल्कुल भी लाइक नहीं करती थी लेकिन यह पता था कि मुझे वह बहुत लाइक करता है। इसलिए मैंने कभी उससे अच्छे से बात नहीं की। मैं हमेशा उस पर गुस्सा दिखाती रहती और वो था कि कभी भी बुरा नहीं मानता था।

2 मई की बात है। नितिन 4 दिन की छुट्टी लेकर अपने घर बिजनौर गया था। उस दिन मुझे नितिन की कमी महसूस हुई। बस मैं यही सोच रही थी कि कुछ करके मेरी नितिन से बात हो जाए पर मेरे पास उसका फोन नंबर नहीं था।

3 मई को सनडे था और मैं सो रही थी। सुबह में 6 बजकर 8 मिनट पर एक कॉल आई। मैंने कॉल पिक की – हेलो कौन।

उधर से आवाज आई – मैं नितिन..

मैं बोली – तो हम क्या करें।

उधर से आवाज आई – मैं नितिन बोल रहा हूं।

मैंने कॉलर को धमकाया -पागल बनाने के लिए मैं ही मिली हूं आपको। नितिन के पास मेरा नंबर नहीं है तो वह फोन कहां से करेगा। और इस नंबर पर दुबारा कॉल मत करना।

कॉल कट गई और इसके बाद मैं फिर सो गई. अचानक से मेरी आंख खुली और मैंने सोचा कि अगर सच में वह नितिन हुआ तो…फिर मैंने उस नंबर पर दुबारा कॉल मिलाया।

मैंने पूछा – आप सच्ची में हमारे नितिन बोल रहे हो।

उन्होंने कहा – हां।

उसके बाद हम दोनों में खूब बातें हुईं। मैं नितिन को प्यार से नितिन जी कहकर बुलाती थी।
—-

नितिन जी और मेरे बीच सबकुछ अच्छा चल रहा था। वो मेरी केयर करते थे, मेरी छोटी सी छोटी बात का ध्यान रखते थे। बात मानते थे। चोट हमें लगती थी तो दुख उनको होता था। बहुत प्यार करते थे नितिन जी हमसे।
—-
लेकिन 19 नवंबर 2015 को मेरी एक फ्रेंड के बर्थडे में सभी दोस्त और नितिन जी भी आए थे। पता नहीं मेरी कौन सी बात नितिन जी को बुरी लग गई। नितिन जी ने पूरे दिन हमसे बात नहीं की।

मैं रोने लगी और वो भी ज्यादा गुस्सा हो गए। उस दिन के बाद नितिन जी ने कभी हमसे बात नहीं। हमने बहुत कोशिश की उनको मनाने की, पर वो नहीं माने।

और एक दिन 14 फरवरी 2016 को नितिन जी का कॉल आया। उन्होंने कहा कि आज के बाद तुम मुझे कॉल मत करना। तुमने कभी मुझसे प्यार किया तो तुमको मेरी कसम, तुम मुझे भूल जाओ। और तुमको मेरी कसम कि तुम अपने साथ कोई गलत काम नहीं करोगी जिससे तुम्हारे मॉम और डैड को प्रॉब्लम हो। आई लव यू..आई मिस यू..मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं पर अब कभी तुमसे बात नहीं करूंगा।

हमने उनसे बार बार सॉरी कहा। पूछा कि हमारी गलती क्या है पर उन्होंने कुछ नहीं बताया।
——-
मैं उसके बाद से रोज उनको कॉल और मैसेज करती हूं। लेकिन न तो वो कॉल उठाते हैं और न ही मैसेज का रिप्लाई देते हैं। पता नहीं वो मेरे मैसेज पढ़ते भी हैं कि नहीं।

आई लव नितिन जी…मेरे पास आप जब आओगे, मैं इंतजार करती हुई मिलूंगी। बस नितिन जी, आप हमारे पास वापस आ जाओ। एक बार हमें आकर मिलो। बस एक बार। आई मिस यू नितिन जी।

Advertisements

One thought on “दिल्ली से भारती की प्रेम कहानी – Love story of Bharati from delhi”

Leave a Reply