असम से मोनू की रियल लव स्टोरी – monu ki love story from assam

मेरा नाम मोनू है। मैं एक मेडिकल स्टूडेंट हूं। उसका नाम मिली है। मैं उसे 9th क्लास से ही लाइक करता था। लेकिन कभी उससे बोलने की हिम्मत नहीं हुई।

10th क्लास के बाद मैं कोटा में मेडिकल की तैयारी के लिए चला गया लेकिन उससे फेसबुक पर बात होती रही।

monu love story

बातों का सिलसिला आगे बढ़ा तो 1 जनवरी 2016 से। हम दोनों एफबी पर बात करते रहे। दोनों ही 12th में थे। मैं उसे हमेशा खुश रखता था।

उसने अपने प्रीवियस लव लाइफ की बातें मेरे से शेयर की। हम अपने टीचर्स के बारे में बात किया करते थे।
——-
बोर्ड एग्जाम से कुछ दिन पहले मैंने उसे अपनी फीलिंग्स बताई। उसने कहा कि अब वो किसी से भी रिलेशनशिप नहीं रखना चाहती।

मैंने गुस्से में उसे एफबी पर ब्लॉक कर दिया। लेकिन उस दिन अनब्लॉक भी कर दिया। वो कहती कि मैं तुम्हारी बेस्ट फ्रेंड बनकर रहना चाहती हूं।
——–
हमारी बात फिर से होने लगी। बोर्ड एग्जाम के बाद मैंने फिर उसे फीलिंग्स बताई। इस बार उसने मुझे ब्लॉक कर दियाा।

फिर 18 दिन बाद उसने अनब्लॉक कर मुझसे बोर्ड के मेरे परसेंटेज जानने के लिए मैसेज किया। हम फिर बात करने लगे।
—–
मेरा PMT और वो होटल मैनेजमेंट की तैयारी कर रही थी। हम दोनों की एक बार फिर लड़ाई हो गई और उसने मुझे ब्लॉक कर दिया। मैं उसका इंतजार करता रहा।

इस बीच मेरा पीएमटी का एग्जाम हुआ उसने मुझे उम्मीद थी कि वो लक विश करने के लिए मुझे अनब्लॉक करेगी लेकिन उसने ऐसा नहीं किया।
——-
तीन महीने बीत गए। मैंने एक दिन अचानक देखा कि एफबी पर उसने मुझे अनब्लॉक कर दिया थाा। मगर ये क्या, उसने उधर लखनऊ में एडमिशन ले लिया था और मैं इधर असम में।

हमारी बातें फिर शुरू हो गईं। इस बार हम दोनों ने नंबर भी शेयर किए और फोन पर हम दोनों की बात होने लगी।
———-
लेकिन वो जब भी मुझसे बातें करती थी हमेशा हंसती और खुश रहती थी। मैं मैसेज या कॉल ना करूं तो वो मिस करती थी मुझे।

फिर एक दिन मैंने उससे कहा कि मेरे में ऐसा क्या प्रॉब्लम है जो तुम मेरा लव प्रपोजल एक्सेप्ट नहीं कर रही। एक रीजन बता दो, मैं हमेशा के लिए चला जाऊंगा।

उसने जवाब में कुछ नहीं कहा। वो भी रोती रही और मैं भी। एक दिन उसने बताया कि उसे लखनऊ में एक लड़के से प्यार है और उसे कुछ टाइम चाहिए।

उसने यह भी कहा कि उस लड़के की ऑलरेडी गर्लफ्रेंड है फिर भी वह उससे पूछेगी कि वह उससे प्यार करता है कि नहीं।
——-
इसके बाद भी हम दोनों बात करते रहे लेकिन वो पहले वाली बात नहीं रही। अब तो जैसे वो किसी तरह मैसेज कर देती है और मैं किसी तरह रिप्लाई कर देता हूं। मैं उससे एक दिन बात ना करुं तो मुझे लगता है कि मेरा दिन ही पूरा नहीं हुआ।
——
मैं सोचता हूं कि उसे भूल जाऊं लेकिन मुझे पता है कि ऐसा कभी नहीं होगा क्योंकि वो मेरा पहला प्यार है और बड़ी बात यह कि मैं उसे क्लास 9th से लाइक करता हूं।

वो मुझे अपना बेस्ट फ्रेंड मानती है लेकिन जब भी उसका ह्वाटसएप पर सैड स्टेटस और पिक्स के बारे पूछता हूं तो वो कुछ नहीं बताती।

और हां, उसे एक्सक्यूज बिल्कुल भी नहीं देने आते। वो इत्ती स्वीट है कि उसका झूठ पकड़ा जाता है।
———
बस मैं इतना चाहता हूं कि वो खुश रहे। वो मुझसे प्यार करे न करे बट वो खुश रहे। बस इत्ता ही चाहूंगा, उसकी खुशी ही मेरा प्यार है।

अगर वो चाहेगी कि मैं उसे भूल जाऊं तो मैं उसे भूल जाऊंगा लेकिन मेरी एक शर्त है। उसे अपनी आगे की जुल्फों को हमेशा आखों के नीचे गिरा के रखने होंगे जैसा कि वो हमेशा रखती है…..

बस इतनी सी चाहत है और यही मिली से मेरी मोहब्बत की कहानी है।

Advertisements

Leave a Reply