प्रीति की लव स्टोरी गुजरात से – gujarat se priti ki love story

मेरा नाम प्रीति है। मेरी लव स्टोरी बताती हूं। मैं 11वीं क्लास में थी तबसे मुझे केतन से प्यार हुआ। हम साथ में ही पढ़ते थे। बराबर मिलते थे और 4 साल हम दोनों का रिश्ता ऐसा ही रहा।gujarati love story

बाद में पैरेंट्स की मंजूरी से हमारी सगाई हो गई। सालभर तक हमारी सगाई रही और एक दिन अचानक केतन की एक चिट्ठी आई।

मेरे जमाने में मोबाइल फोन नहीं थे इसलिए चिट्ठी लिखकर ही एक दूसरे के संपर्क में रहते थे। केतन ने चिट्ठी में लिखा कि हमारा संबंध पूरा हो गया।

उसने बस इतना ही लिखा था। मुझे बहुत दुख हुआ। मेरा कोई गुनाह नहीं बताया और रिश्ता तोड़ दिया।
—-
बाद में थोड़े टाइम बाद केतन ने दूसरी लड़की से शादी कर ली। मेरी भी शादी हो गई। मुझे एक बेटी हुई। 6 साल बाद एक बेटा हुआ।

बेटा 1 साल का हुआ और मेरे पति की मौत हो गई। उस वक्त मैं 29 साल की थी। ससुराल में अकेली हो गई और मेरी कोई नहीं कर रहा था।
——
मैं अपने मायके के गांव में आकर रहने लगी। टिफिन सर्विस देने लगी और इससे मेरा और बच्चों का गुजारा चलता रहा।

एक दिन अचानक केतन से मुलाकात हो गई और वो मुझसे मिलने लगा। वह तबसे मेरा और मेरे बच्चों का ख्याल रखने लगा।
—-
अब वह मेरे परिवार का ध्यान रखता है, मेरी मदद करता है। मेरी बेटी की शादी का सारा खर्च उसी ने उठाया। मेरे बेटे को पढ़ाता है। अब पहले से ज्यादा गहरा प्यार हो गया है हम दोनों में।

Advertisements

Leave a Reply