love story

हरियाणा से सुमित की लव स्टोरी – love story of Sumit from Haryana

पिछले महीने 22 अक्टूबर को यहीं घर से उसकी शादी थी। उसकी शादी पर मैं गया और वहां मैंने बहुत शराब पी। आखिरी बार उसे देखने गया तो कुछ कदम चलते ही मेरी आंखों में पानी आ गया।

Hi,मेरा नाम सुमीत है। ये कहानी नहीं, मेरी जिंदगी की हकीकत है। मैं जब पहली क्लास में था, तब वो दूसरी क्लास में पढ़ती थी। यानि वह हमेशा मुझसे एक क्लास आगे रही। हम दोनों एक ही स्कूल में पढ़ते थे। वो मुझे बचपन से अच्छी लगती थी। उसका नाम सोनी था।love story from haryana
उसके साथ रोज खेलना-कूदना। उसके साथ बैठना मुझे बहोत अच्छा लगता था। इसी में हमारी जिंदगी के कुछ साल निकल गए। अब वो 9th में थी और मैं 8th में था। जब अपनी फ्रेंड्स के साथ वो बिजी रहती थी तो मैं उसे छुप छुप कर देखा करता था। मैं उसके साथ बैठने का बहना खोजता रहता था।

मुझसे दोस्तों ने बहुत कहा कि प्रपोज कर दे लेकिन मेरी हिम्मत नहीं होती थी। मैं उसकी यादों में रात-दिन तड़पता रहता था। मेरे सब फ्रेंड्स मुझे समझाते रहते थे कि उसे प्रपोज कर..बहुत बार गया उसके पास पर इधर उधर की बात करके वापस आ जाता था।
——
मेरे दिल ने उसको बेपनाह मोहब्बत की। जब वो स्कूल चेंज करके जाने लगी तो मैंने उसकी फ्रेंड को बोला कि उसे जाके बोल कि मैं इंतजार करूंगा। उसकी फ्रेंड ने तब मुझे बताया कि सोनी भी तुमसे बहुत प्यार करती है। पल पल तेरा नाम लेती है।

मैंने सोचा कि ये मजाक कर रही है। मैंने उसकी बात को दिल से नहीं लगाई।
—-
मैं अब उस स्टेज पर था जब उसके बिना जीना पड़ गया। वो दिल्ली चली गई और हम बिछड़ गए।

पिछले महीने 22 अक्टूबर को यहीं घर से उसकी शादी थी। उसकी शादी पर मैं गया और वहां मैंने बहुत शराब पी। आखिरी बार उसे देखने गया तो कुछ कदम चलते ही मेरी आंखों में पानी आ गया और वो भी मुझे देखकर उदास सी हो गई।

मैं वहां से अपने घर की तरफ निकल गया। तभी सोनी की फ्रेंड आई और उसने मुझे फिर वही बात बताई कि वो भी तुझसे प्यार करती थी। उस फ्रेंड ने कॉल करके उससे बात कराई तो वह बस इतना बोली कि पगले, फिर मिलेंगे अगले जनम में। शादी में खाना खाकर जाना।

मुझे अफसोस होता है कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड को कभी प्रपोज नहीं कर पाया।

Advertisements

Leave a Reply