jazbaat shayari

गजल – मोहब्बत के फसानों का यही अंजाम होता है

मोहब्बत के फसानों का यही अंजाम होता है इसमें जो मर मिट जाए, उसी का नाम होता है खुशी के चंद कतरों से जो दिल को बहला ले फिर गम को भी अपनाए, वही इंसान होता है

shayari latest shayari new

अपनों से धोखा शायरी

मोहब्बत के फसानों का यही अंजाम होता है
इसमें जो मर मिट जाए, उसी का नाम होता है

खुशी के चंद कतरों से जो दिल को बहला ले
फिर गम को भी अपनाए, वही इंसान होता है

अपना बनकर जिसने दिया जिंदगीभर धोखा
उसका भी जो भला सोचे वही नादान होता है

दुनिया में जाने कब कोई भी काम आ जाए
मुसीबत में जो साथ आए वही भगवान होता है

Advertisements

Leave a Reply