गाजियाबाद से माही की लव स्टोरी – love story of Mahi from Ghaziabad

हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम माही है। मैं मोदीनगर से हूं। मैं आपको अपनी रियल लव स्टोरी बताने जा रही हूं। मैं एक लड़के से बहुत प्यार करती हूं। वह दिल्ली में रहता है। उससे पहली बार मैं मामा की शादी में दिसंबर 2012 में मिली थी। उसने कहा था कि फिर बात होगी लेकिन अगले दो महीने तक हम दोनों के बीच कोई बात नहीं हुई। उसकी बहन ने एक बार फोन किया और उसी से मुझे संदीप का नंबर मिला। 2013 के फरवरी में उससे मेरी फिर बात हुई।

mahil love story
——
मैं उससे बात करके बहुत खुश थी। उसने मुझे एक फोन दिया। हम दोनों एक दूसरे से खूब बातें करते थे। वह कहता था कि मैं तुझसे शादी करूंगा और कभी छोड़कर नहीं जाऊंगाा। वो बोलता था कि मैं तुम्हारे बिना मर जाऊंगा। उसी बीच मेरा पापा नहीं रहे। इसके बाद वह हमारे घर आने लगा। इसी बीच हम दोनों के फिजिकल रिलेशन बन गए और सिलसिला चलता रहा।
—-
कुछ दिनों बाद मुझे पता चला कि वह अपनी बुआ की लड़की से बात करता था। वह उससे मिलने जाता था और जब भी वहां जाता था, फोन ऑफ कर लेता था और मुझसे बात नहीं करता था। मैं बहुत रोती हूं। पिछले दो साल से वो मुझे इग्नोर कर रहा है। बदतमीजी करता है। उसके बारे में ऐसी कई बातें मुझे पता चलीं जिस वजह से मैं उस पर शक करती हूं।
—-
मैं बहुत रोती हूं और उससे पूछती हूं कि क्या तुमने मुझे यूज किया तो वो बोलता है कि मैंने तुझे यूज नहीं किया, अगर यूज किया होता तो बहुत पहले छोड़ देता। वो कभी मेरे पास कॉल नहीं करता, मैं ही उससे कॉल करके बात करती हूं। अभी दो महीने पहले उस पर एक केस हुआ जिसमें एक महीने वो जेल में रहा। मैं बहुत रोयी दिन रात।
—-
जेल से आते ही उसने मुझे कॉल किया और मिलने आया। उसने कहा कि वो मेरे बिना नहीं रह सकता और वो पल पल तड़पा है मेरे लिए। फिर हम दोनों के रिश्ते बन गए। कुछ दिन पहले ही उसने बताया कि उसको फिर से जेल हो सकती है। इसी 7 फरवरी को वह मुझसे मिलने आया था और उसने कहा कि यह हमारी आखिरी मुलाकात है। 8 फरवरी को उसके साथ मेरी आखिरी बार बात हुई।
—-
इसके बाद से उसका फोन ऑफ है और मेरा दिन रात रो रो कर बुरा है। मुझे रात में नींद भी नहीं आ रही है। बस उसकी ही याद आ रही है 24 घंटे। मेरा बहुत बुरा हाल हो रहा है। मैंने उसकी सिस्टर से बात की तो उसने कहा कि वह जेल चला गया है लेकिन वह जेल नहीं गया है क्योंकि जब मैं उसके सिस्टर से बात कर रही थी तो मुझे पीछे से उसकी आवाज सुनाई दे रही थी। मुझे पक्का यकीन है कि संदीप वहीं पर था।

जब वो जेल नहीं गया तो उसने अपनी सिस्टर से झूठ क्यों बुलवाया। उसने मेरा साथ ऐसा क्यों किया। पिछले दो सालों से वो बहुत ड्रिंक करने लगा था, दोस्तों के साथ गाड़ी में घूमकर आवारागर्दी करता था। मैं उसे मना करती थी तो मेरे साथ बदतमीजी करता था। मेरी एक भी बात नहीं मानता था। लेकिन वो जेल से आने के बाद पिछले कुछ दिनों से बदल गया था। मेरे साथ अच्छा बिहेव कर रहा था, प्यार से बात कर रहा था और मेरी बात भी मान रहा था।
—–
अब उसका फोन ऑफ है तो मुझे लगता है कि वो किसी और से बात करता है। मेरा रो रोकर बहुत बुरा हाल है। मैं उसे भूल नहीं पा रही हूं। मेरी मम्मी मुझे बहुत समझाती है कि बेटी पढ़ लिख अपने पैरों पर खड़ी हो जा। लेकिन मैं उसके बिना कुछ नहीं कर पा रही। उसे मेरी बिल्कुल भी फिक्र नहीं है। मुझे 100 परसेंट यकीन है कि वो घर पर ही है और मुझसे झूठ बोल रहा है। उसने मेरे साथ ऐसा क्यों किया?

मैं जी नहीं पा रही हूं। मैं उससे बहुत प्यार करती हूं। मैं क्या करूं, बहुत परेशान हूं। मैं पल पल मर रही हूं उसके बिना। फ्रेंड्स प्लीज, हेल्प मी। बताइए, मुझे क्या करना चाहिए, मैं समझ नहीं पा रही हूं।

Advertisements

Leave a Reply