उत्तराखंड से प्रदीप की लव स्टोरी – pradeep love story from uttarakhand

Hi, दोस्तों, मेरा नाम प्रदीप रावत है। मैं उत्तराखंड से हूं। मैंने एक लड़की को अपनी बेस्ट फ्रेंड बनाया और कम से कम एक साल तक हम दोनों बेस्ट फ्रेंड रहे। फिर पता नहीं क्यों मुझे उसकी आदतें, उसके बिहेवियर बहुत अच्छे लगने लगे और मुझे उससे प्यार हो गया और मैंने प्रपोज कर दिया।

pradeep love story

लेकिन उसने प्रपोजल एक्सेप्ट नहीं किया क्योंकि हमारा मोहल्ला एक ही थी। फिर जब मैंने उसको गहराई से अपने प्यार के बारे में बताया तो दो दिन बाद वो बोली कि मैं तुमको पसंद करती हूं और तुमको प्यार करती हूं लेकिन बोल नहीं पाई।

इसके बाद हमारी रिलेशनशिप अगले 3 साल तक चलती रही। मैंने उसकी हर ख्वाहिश पूरी की। जो उसने मांगा, मैंने दिया। मैं उसकी बहुत केयर करता था। उसे बहुत प्यार करता था। एक दिन जब हम दोनों बैठे थे तो मैंने अचानक उसके पास एक डायरी देखी।

मैंने उससे डायरी मांगी तो उसने नहीं दी तो मैंने जानबूझकर उसके हाथों से वो डायरी खींच ली और उसके पन्ने पढ़ने लगा। मेरे पैरों तले से जमीन खिसक गई। उसमें मेरे बारे में लिखा था कि प्रदीप को मैं बिल्कुल पसंद नहीं करती और जब भी मैं उसको देखती हूं तो मेरा दिमाग खराब होता है।

उसकी डायरी में एक दूसरे लड़के का जिक्र था। उसने लिखा था कि वो उस लड़के को बहुत प्यार करती है और एक साल से उसके साथ रिलेशनशिप में है। उसने यह भी लिखा कि उस लड़के ने उसको कब पहली बार किस किया, कब गले लगाया। मैंने यह सब पढ़ा तो मेरे होश उड़ गए।

अपने घर में गया और अपने रूम में बस बेहोशी की हालत में लेट गया। 15 दिनों तक न ही कॉलेज गया और न ही कहीं घूमने निकला। मैं बस यही सोचता रहा कि मैंने इसको प्यार मोहब्बत के साथ और भी बहुत कुछ दिया लेकिन इसने तो मुझे एक ही चीज दी, वह था धोखा।

मैंने उससे सच्चा प्यार किया, क्या मेरी गलती थी? क्या मैंने गलत किया? अपनी खुशी छोड़ी और उसको खुश रखा, क्या मैंने गलत किया?

Advertisements