मेरी जिंदगी के गुलशन में उसकी ही महक है – रितेश की लव फीलिंग

आज मैं अपनी और जिस लड़की से मोहब्बत करता था, उससे जुड़ी कुछ यादों को और सपनों को आपसे शेयर कर रहा हूं। वैसे तो मैं उसके ख्वाबों का किरदार नहीं हूं मगर मेरी जिंदगी की गुलशन में उसकी ही महक है।

ritesh love letter
—-
ऐसा कोई पल नहीं है, जब उसकी याद न आई हो। मैंने तो उसे जैसे अपनी आंखों में कैद कर रखा है। हर पल उसे ही देखूं ये सोच लिया है। उस दिन जब मैंने पहली बार उससे बात की थी तभी से मेरे लिए वो जिंदगी बन गई है।
—–
मेरे सपने का सच तो ये था कि मैं उसका हो न सका। या ये कहूं कि मैं उसके काबिल ही नहीं था। मैं आज भी उन बातों को याद कर रो पड़ता हूं, जिसकी वजह से आज मेरी हालत क्या से क्या हो गई है।
—-
मैं सच कहता हूं, वो मेरे दिल में एक आईने की तरह है, जिसे जब मैं देखता हूं, उसका चेहरा नजर आता है। मैं जानता हूं कि वो मेरे बारे में ऐसा कुछ नहीं सोचती मगर कुछ तो ऐसा है कि हम दोनों के बीच जिसकी वजह से उससे दूर होकर भी उसे याद कर उसके इतने करीब चला आता हूं, जितना मैं अपनी परछाई के करीब होता हूं।
—-
कभी-कभी मैं सोचता हूं कि काश वो मेरे साथ होती और मैं उसकी आंखों में इतना डूब जाता कि मुझे इस दुनिया में होने वाले किसी भी चीज का अहसास न होता, बस उसकी आंखों में समाता ही चला जाता।
——-
मुझे मालूम है कि रात जितनी अंधेरी होती है, आने वाला दिन उतना ही रोशनी से भरा होता है। बस एक आस बनाए जिंदा हूं कि कहीं ना कहीं मेरा उसका सामना हो और जिंदगी की हर खुशी मेरे दामन में आ जाए, इस तरह कि वो लम्हा मिटाए न मिटे और भुलाए न भूले।
——–
उससे बिछड़कर इतनी उदासी थी छाई
चांद तारों में वो बात न थी पहली सी
इश्क ने बदल दी पल में मेरी सारी दुनिया
मैंने देखा कि मेरी रात न थी पहली सी…

Advertisements

Leave a Reply