उसने मुझे धोखा भी दिया और बदनाम भी किया – किशन की लव स्टोरी

मेरा नाम किशन है। मैं अपना खुद का बिजनेस करता हूं। बेगूसराय, बिहार का रहनेवाला हूं। एक साल पहले मेरी जिंदगी में कुछ ऐसा हुआ जो मुझे आज इस मुकाम पर लाकर खड़ा कर दिया है कि जहां मुझे समझ नहीं आ रहा कि क्या करना चाहिए?

kishan love story
——
17 अप्रैल 2016 को मैं अपने गांव में एक पूजा में गया था। वहां हमारे सारे रिश्तेदार आए थे और उस लड़की के भी रिलेटिव आए। वहां मैंने उसे देखा और शायद उसके जैसा कभी किसी को नहीं देखा था। जिसकी तलाश में हमेशा डूबा रहता था कि कोई ऐसा हो जो सेम मेरे जैसा हो। वो तलाश मेरे गांव में जाकर खतम हुई।
——
वहां मैंने उसे पहली बार देखा और देखते ही देखते मुझे लगा कि जिसकी तलाश थी वो वही है। मैं उससे बात करने के मौके तलाशने लगा। लेकिन उस दिन मौका मिला नहीं। दो दिन के इंतजार के बाद वो मौका मिल ही गया जब उससे बात हुई।
——
अपनी बहनों के साथ मैं फोटो ले रहा था तो उसने मेरी बहन से बोला कि मेरा एक फोटो इनके साथ लो। वो मेरे साथ फोटो खिंचवाने को बोल रही थी। वो मेरे पास आकर खड़ी हो गई और दो पिक क्लिक करवाए। उसके बाद मेरे अंदर एक सवाल उठने लगा कि एक अंजान के साथ उसने पिक क्यों खिंचवाया?
——
मुझे लगा कि कहीं वो भी मुझे पसंद तो नहीं करती है। ये बात मुझे अंदर ही अंदर कुरेदने लगी। उसके बाद मैं हमेशा उससे पूछना चाहता था कि क्या तुम मुझे पसंद करती हो? मैं कहना चाहता था कि मैं भी तुमको पसंद करता हूं लेकिन कभी हिम्मत नहीं होती थी।
——
हम दोनों की थोड़ी-थोड़ी बातें हुईं। लेकिन बस ऐसी ही बातें कि क्या करते हो, कैसे हो। जब तक मैं गांव में रहा, उससे अपने दिल की बात नहीं बोल पाया। एक दिन उसके साथ मार्केट जाने का मौका मिला लेकिन उसकी बहन साथ थी इसलिए उससे कुछ कह नहीं पाया। फिर एक दिन वो गांव से परिवार के साथ चली गई। स्टेशन पर मैं छोड़ने गया। ट्रेन चली गई तो बहुत अफसोस हुआ।
———
कुछ महीने बाद जब मैं अपने घर पर था तो शाम में वाट्सऐप पर उसका मैसेज आया तो मैं बहुत खुश हुआ। हम दोनों की बातें होने लगी तो मैंने एक दिन कह दिया कि गांव में ही मैंने तुमको पसंद कर लिया था तो उसने भी उधर से तुरंत कहा कि मैं तुम्हारे प्रपोज करने का इंतजार कर रही थी।
———-
मैंने उससे कहा कि मैं इस रिलेशन में सीरियस हूं, तुम्हारे साथ टाइम पास नहीं कर रहा। मैंने सोच लिया कि पूरी जिंदगी उसी के साथ बिताऊंगा लेकिन शादी के नाम से वो चिढ़ जाती थी।
——
मेरे घरवाले मुझे शादी करने की बात कहने लगे तो मैंने उनको उस लड़की के बारे में बताया। मेरी मां ने उसकी मां से बात की तो कहा कि बेटी से पूछकर बताऊंगी।
———-
एक महीने बाद उसका मैसेज आया कि मां बोल रही है कि ये शादी नहीं हो सकती। लेकिन मेरी मां ने फिर जब उसकी मां से बात की तो कुछ और ही पता चला। उसकी मां ने कहा कि मेरी शादी के बारे में तो ऐसा कुछ उन्होंने नहीं कहा है।
———-
फिर एक दिन ऐसा हुआ जो नहीं होना चाहिए था। उसने सीधा एक जवाब दिया कि मैं तुम्हारे साथ फ्लर्ट कर रही थी। मुझे बहुत दुख हुआ क्योंकि अगर वो पहले ही बोल देती कि आपसे कोई रिलेशन नहीं रखना चाहती तो कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन जो ख्वाब देखे थे उसके लिए, उसने एक पल में तोड़ दिए।
———
एक दिन मुझे पता चला कि वो अपने फ्रेंड से बोल रही थी कि मैंने उसको धोखा दिया। वह उल्टा मुझपर धोखा देने का इल्जाम लगाकर मुझे बदनाम कर रही है। अब ये बात मुझे अंदर ही अंदर खाए जा रही है कि वह अपनी इमेज बचाने के लिए मुझे बदनाम करने में लगी है।
———
क्या सच्चा प्यार करने का यही सिला मिलता है? अब आप ही बताएं कि वो जो कर रही है क्या वो सही है या मैं जो दर्द सह रहा हूं, वो सही है। इस दिल में उसे बसाया था एक घर की तरह लेकिन इस दिल को तोड़कर उसने अपना ही घर तोड़ लिया। आप बताओ कि मैं क्या करूं?

Advertisements