जॉब करने के बावजूद मैं अपने घर की मर्जी से शादी के लिए मजबूर हुई – सौम्या की लव स्टोरी

मैं सौम्या हूं। दिल्ली में जॉब करती हूं। अपने पैरों पर खड़ी होने के बावजूद मैं अपने परिवार के खिलाफ नहीं जा पाई और अपने लवर से मुझे ब्रेक अप करना पड़ा। आज मैं परिवार की मर्जी से शादी करके नाखुश जिंदगी जी रही हूं क्योंकि मैं पति के साथ एडजस्ट नहीं कर पा रही हूं।

saumya love story
—–
मैंने डीयू से पढ़ाई की है और उसके बाद मैंने एमबीए किया। कॉलेज में ही मुझे एक लड़का मिला। वो मेरा क्लासमेट था। एमबीए के दौरान हम दोनों दोस्त रहे लेकिन जब हमारा कोर्स पूरा होनेवाला था तो हम दोनों ने फील किया कि एक दूसरे को मिस करेंगे। उसने मुझे अपनी फीलिंग बताई और इस तरह से हमारी दोस्ती प्यार में बदल गई।
—–
हम दोनों की नौकरी एक ही कंपनी में लगी। मेरे घरवाले मुझपर शादी का दबाव डाल रहे थे। मेरी नानी बीमार रहती थी। नानी से मुझे बहुत प्यार था। वो चाहती थी कि उनके जीते जी मेरी शादी हो जाए। मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड के बारे में घर को बता नहीं पाई। मैं हिम्मत नहीं कर पाई।
—–
मैं मजबूर होकर अपने ब्वॉयफ्रेंड से दूर हो गई। मेरे घरवालों ने शादी फिक्स कर दी। लड़का दिल्ली में ही जॉब करता था। मैंने वो कंपनी छोड़ दी। मेरा ब्वॉयफ्रेंड भी उस कंपनी को छोड़ कर चला गया। मैंने उसे शादी का कार्ड भी दिया लेकिन वो नहीं आया। मुझे दोस्तों से पता चला कि वो काफी दुखी रहा। लेकिन मैं कुछ कर न सकी।
—–
शादी के बाद मैं पति के साथ रहने लगी। लेकिन मैं इस शादी से खुश नहीं हूं। अब मुझे अफसोस होता है कि काश मैंने बोल्ड स्टेप लिया होता। काश मेरी नानी समझ पाती कि उनकी बात मानने से मेरी जिंदगी खराब हो गई। काश मेरे मां-बाप समझ पाते। काश मैं उस समय अपने घरवालों को बता पाती कि मेरा एक ब्वॉयफ्रेंड है जिससे मैं शादी करना चाहती हूं।
—–
लेकिन मैं खुद आर्थिक ताकत पाकर भी मानसिक ताकत नहीं जुटा पाई। मैं कमा रही हूं लेकिन फिर भी अपनी जिंदगी का फैसला नहीं ले पाई। अब सोचती हूं कि परिवार से बगावत करती तो शायद अपनी हालत के लिए परिवार को तो न कोसती। काश मैंने अपनी जिंदगी का फैसला खुद लिया होता। मैं अपने आपको भी बहुत कोसती हूं। दुखी रहती हूं। कब तक हम लड़कियां अपने मां-बाप की मर्जी के आगे अपने आपको सैक्रीफाइस करते रहेंगे?
—–
घर के बुजुर्ग क्यों चाहते हैं कि मरने से पहले वे हमारे बाल-बच्चे देखकर जाएं? मुझे अब इन सब बातों पर अब गुस्सा आता है। अब ये सब बदलना चाहिए। मैं लड़कियों से गुजारिश करती हूं कि अगर वे खुद कमा रही हैं तो कम से कम वो हिम्मत दिखाएं। मैं हिम्मत दिखा नहीं सकी, जिसका नतीजा भुगत रही हूं।

Advertisements

Leave a Reply