love story

मैंने हर बार सच्चा प्यार किया, हर बार धोखा मिला – स्नेहा की रियल लव स्टोरी

जिससे मैंने प्यार किया था उसको मैं भूल नहीं पा रही लेकिन उसको अपनी लाइफ में कभी आने नहीं दूंगी। मैं आप सबसे इतना पूछना चाहती हूं कि इन सबमें मेरी क्या गलती है? एक से प्यार किया तो उसने धोखा दिया।

मैं स्नेहा हूं। प्यार… इस वर्ड ने बहुत कुछ सिखा दिया है। प्यार में बहुत बिलीव करती थी मैं…और हो सकता है कि आज भी करती हूं। पर अब प्यार के नाम पर भी लॉक लगा दिया है मैंने। प्यार की वजह से मेरी लाइफ बर्बाद हो चुकी है।

love story of sneha
—–
उससे 12वीं क्लास में ही प्यार करने लगी थी। वो भी बहुत प्यार करता था। हर तरह से साथ देता था। स्टडी हो या फिर कोई और मैटर। पांच साल तक हमारा रिलेशनशिप रहा। रूठना मनाना सब चलता रहा। उसको मेरी फ्रेंड्स से प्रॉब्लम थी तो मैंने फ्रेंड्स से दूरी बना ली। दिन रात सिर्फ वही दिखता।
——
उसने मुझसे बोला कि वो शादी करना चाहता है। मैंने उसको मना किया कि मेरी फैमिली नहीं मानेगी। हम सेम कास्ट के थे लेकिन मुझे लगा कि फैमिली कभी हां नहीं करेगी। लेकिन उसने मुझे बहुत फोर्स किया तो मैंने अपनी फैमिली से बात की। शुरू में वो हां-ना में अटके रहे लेकिन फाइनली उन्होंने हां कर दी। दोनों की फैमिली एग्री हो गई।
—–
हम दोनों के परिवार ने रोका का रस्म कर दिया। हम बहुत खुश थे। और खुश होते भी क्यों नहीं। जो चाहते थे वो मिल रहा था। लेकिन कहते हैं ना कि खुशी को गम में बदलते देर नहीं लगती। और कभी कभी हम वो मांग लेते हैं भगवान से जो कभी हमारा होता ही नहीं है।
—-
शादी की डेट फिक्स हो गई लेकिन इसके तीन चार महीने पहले उसका बिहेवियर चेंज हो गया। बात बहुत कम करने लग गया। झूठ बोलने लग गया। उसके फ्रेंड्स से पता चला कि वो किसी और लड़की को डेट कर रहा है। पूछा तो क्लियर उसने मना कर दिया। उसके बाद दूसरी लड़की के साथ उसकी पिक्स देखी मैंने तो वो बोला कि फ्रेंड है।
—–
मुझे भी लगा कि मैं बेवजह इंसिक्योर फील कर रही हूं। हमारी शादी तो होनेवाली है। मैंने किसी और पर ट्रस्ट नहीं किया, सिर्फ वो जो बोलता वही सुनती, वही मानती। वही मुझे सच लगता बाकी सब झूठ। शादी में एक महीने रह गए तो उसकी कॉल आई कि मैं शादी नहीं कर सकता, मैं किसी और से प्यार करता हूं।
—–
मैंने बहुत समझाया, बहुत रोई फिर रिलेटिव और उसकी खुद की फैमिली ने समझाया तो उसने हां कर दी। उसने मुझे हर जगह से ब्लॉक कर दिया। उसने कहा कि वो मेरे साथ कभी बात नहीं करेगा। सब बर्दाश्त किया लेकिन मैं कितने दिन सहती। आखिरकार मैंने उसकी फैमिली को और मेरी फैमिली को मना कर दिया कि मुझे ही नहीं करनी उससे शादी।
—-
मैं कोई भीख थोड़ी मांग रही थी उससे कि जो उसका मन होगा, वही होगा। रिश्ता तोड़ दिया मैंने। अब कोई मुझे गलत कहे या सही। मुझे जो ठीक लगा, मैंने किया। ये सब देखकर मेरे पैरेंट्स बहुत रोए। और उनके आंसू आज भी याद हैं मुझे।
—-
दिन बीतते गए। कई लोगों ने सिम्पैथी देने की कोशिश की और वो सोचते थे कि टूटी हुई अकेली लड़की है तो इसका फायदा उठाया जाए। लेकिन मैंने हर किसी से बात करनी बंद कर दी। खुद को हर समय अकेला रखने लगी। याद आती तब अकेले में रो लेती थी लेकिन पैरेंट्स को दुख ना हो तो उनके सामने हंसती रहती।
—-
और वो फोन पर मैसेज करके कहता मुझसे कि शादी कर ले। जब फैंमिली गॉड सब साथ थे तब तो शादी की नहीं और अब बस ड्रामा कर रहा था कि मैं उसको माफ कर दूं। लेकिन इस जनम में तो उसको कभी माफ नहीं करूंगी। अभी भी उसी लड़की के साथ रहता है। बहुत दुख होता है।
—-
मैं शायद कभी भूल नहीं पाऊंगी उसको। नेवर। जिंदगी कभी कभी ऐसा थप्पड़ मारती है जो उम्रभर याद रहता है।
—-
मेरे पैरेंट्स लड़का खोजने लग गए। 10-11 महीने बाद एक अच्छा लड़का मिला। सीआरपीएफ में सब इंस्पेक्टर था। वो लोग देखने आए तो मैं उनको पसंद आ गई। लड़के की तरफ से हां हो गई तो मैंने उसे अपने पास्ट के बारे में सब बता दिया। उसने मेरे पास्ट को एक्सेप्ट कर लिया। मुझे भी पता चला कि उसकी भी एक जीएफ रह चुकी थी। मैंने भी उसके पास्ट को एक्सेप्ट किया।
—-
मैंने उससे पूछा कि अगर सच जानने के बाद शादी से मना करना हो तो कर दे लेकिन उसने हां की। मुझे भी खुशी हुई कि गॉड ने पहले जो किया वो मेरे अच्छे के लिए ही किया ता। लेकिन इंगेजमेंट तक उसने सही से बात की। इंगेजमेंट के बाद वो गाली वाली भाषा में बात करने लग गया।
—-
ये भी मुझे पता चला कि वो ड्रिंक करता है और स्मोकिंग भी करता है। लेकिन मैंने सब एक्सेप्ट किया क्योंकि मैं नहीं चाहती थी कि अब रिश्ता टूटे और दुनिया में मजाक बने। दुनिया लड़की की ही गलती निकालती है, चाहे लड़का ही गलत क्यों न हो। लेकिन भगवान को यह भी मंजूर नहीं था।
—–
शादी की डेट फिक्स करने की बात होने लगी तो उन लोगों ने दहेज की मांग की। लेकिन मेरी पूरी फैमिली दहेज के खिलाफ थी। इसके बाद मेरी फैमिली ने फिर से मना कर दिया और वो रिश्ता भी टूट गया।
—-
जिससे मैंने प्यार किया था उसको मैं भूल नहीं पा रही लेकिन उसको अपनी लाइफ में कभी आने नहीं दूंगी। मैं आप सबसे इतना पूछना चाहती हूं कि इन सबमें मेरी क्या गलती है? एक से प्यार किया तो उसने धोखा दिया। दूसरे पर ट्रस्ट करके सबकुछ बताया तो उसने मेरी कीमत ही मांग ली। वो चाहता तो अपनी फैमिली को समझा सकता था कि दहेज लेना सही नहीं है। लेकिन उसने फैमिली का साथ दिया।
—–
मैंने दोनों बार ही रिश्ते को दिल से अपनाया था लेकिन अब टूट चुकी हूं। अब कभी किसी पर ट्रस्ट नहीं करूंगी। मेरी क्या गलती है, कोई बताओ?

Advertisements

Leave a Reply