मेरे मांं-पापा ने मेरे साथ बार-बार धोखा किया और प्यार से जुदा किया – देवयानी की लव स्टोरी

मैं देवयानि हूं। गुजरात के एक शहर राजकोट से हूं। मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड से मुंबई में मिली थी। मैं फैमिली के साथ एक शादी अटेंड करने गई थी। वह भी उसी शादी में आया था। पहली मुलाकात में मैंने उस पर ध्यान नहीं दिया। लेकिन दूसरी मुलाकात में उसने मुझसे कहा कि कभी हंस भी दिया करो, ज्यादा खूबसूरत लगोगी। मैंने कोई जवाब नहीं दिया।

देवयानी लव स्टोरी

अगली सुबह फिर मिला तो मुझे गुड मॉर्निंग बोलकर कहा कि फ्रेंड बन सकती हो। इसके बाद हम दोनों ने नंबर एक्सचेंज किए। इसके बाद हर सुबह और रात एक दूसरे को गुड मॉर्निंग, गुड नाइट कहने लगे। मैं फेसबुक पर अपनी डीपी जब बदलती तो वो तारीफ करता।
—-
15 दिन बाद उसने कहा कि मुझसे शादी करोगी। मैंने कहा कि लोग गर्लफ्रेंड बनने को बोलते हैं, तुम सीधे शादी के बारे में पूछ रहे हो। तो वो बोला कि जीएफ नहीं, अपनी बीवी बनाकर रखना चाहता हूं, टाइमपास में इंट्रेस्ट नहीं मुझे, सोच कर बताना।

मैंने कहा कि मैं पढ़ाई के बाद कुछ सोच सकती हूं, अभी नहीं। मैं बीटेक कर रही हूं। फाइनल करने के बाद बताऊंगी। उसने कहा कि मैं इंतजार करूंगा तुम्हारा पर किसी और से शादी नहीं करूंगा। जिंदगीभर अकेला रहूंगा।
—–
मुझे तब इतना भरोसा नहीं हुआ था उसकी बातों पर। धीरे धीरे उसे जानने लगी। पता ही नहीं चला कि कब मुझे प्यार हो गया। मेरे मम्मी डैडी को डेढ साल पहले पता चल चुका है कि मैं उससे प्यार करती हूं। इसके बाद मेरे मम्मी डैडी के साथ मेरा पूरा परिवार, रिश्तेदार मेरे खिलाफ हो गए फिर भी मेरा ब्वॉयफ्रेंड मेरे साथ खड़ा रहा। तबसे मेरे दिल में उसके लिए इज्जत और बढ़ गई। उसे मेरी सेल्फ रिस्पेक्ट का बहुत ख्याल रहता है और कहता है कि मैं तुम्हारे साथ हूं।
—-
मेरे मां पापा पिछले डेढ साल से मुझे परेशान कर रहे हैं क्योंकि वो लोग मेरे ब्वॉयफ्रेंड को पसंद नहीं करते। अगले साल मेरा बीटेक फाइनल हो जाएगा तब तक मैं गुजरात में अपने शहर को नहीं छोड़ सकती। यहीं मेरा कॉलेज है। लेकिन मेरे मां पापा का ड्रामा बहुत ज्यादा बढ़ गया। मैं ब्राह्मण हूं और वो क्षत्रिय है। मेरे परिवार को वो इसलिए पसंद नहीं है क्योंकि वो अदर कास्ट का है और वो नॉन वेज खाता है। वो मुंबई में रहता है इसलिए भी मेरे मां पापा इस शादी के खिलाफ हैं। वो मुझे गुजरात से दूर नहीं भेजना चाहते।
—-
मैं अपने मां पापा के सामने बहुत गिड़गिड़ाई, रोयी तो उन्होंने शर्त रख दी कि शादी के बाद मेरा ब्वॉयफ्रेंड राजकोट में ही रहेगा। उन्होंने मेरे ब्वॉयफ्रेंड से कहा कि देवयानि को राजकोट में फ्लैट दो, गाड़ी दो, तब शादी करेंगे। मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने मेरे मां पापा की शर्त मान ली और यहीं राजकोट में थ्री बीएचके फ्लैट मेरे नाम से खरीद दिया। इसके बाद मेरे मां पापा को लगा कि यहां तो बात बनी नहीं तो उन्होंने शादी रोकने के लिए गेम खेलना शुरू कर दिया।
—-
पहले मेरे मम्मी पापा ने मुझे और मेरे ब्वॉयफ्रेंड को एक दूसरे के खिलाफ भड़काया। वो उसको फोन कर बोलते थे कि हिमानी तो ऐसा कह रही है, मुझे कहते थे कि वो तो ऐसा बोल रहा है लेकिन हम दोनों को एक दूसरे पर इतना भरोसा था कि मां पापा की ये चाल भी कामयाब नहीं हुई। इसके बाद उन्होंने मेरे ऊपर अत्याचार करना शुरू दिया। मेरा खाना बंद कर दिया, फोन छीन लिया। मुझे जान से मारने की धमकी देने लगे।
——
मेरे पापा ने मेरे ब्वॉयफ्रेंड को कॉल कर कहा कि हम अपनी बेटी को मार देंगे और इल्जाम तुम्हारे ऊपर लगा देंगे। इस पर मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने कहा कि अंकल मैं वहीं आ रहा हूं, मेरे सामने ही उसे मार डालिएगा तो आपको मुझ पर इल्जाम साबित करने में आसानी होगी। और वो आया तो मम्मी पापा ने उससे झगड़ा किया।
—–
एक दिन तो हद ही हो गई। मेरे मां पापा ने किचन का सिलेंडर खोल दिया और गैस घर में भरने लगा। बस माचिस लगाने की देर थी। वो कह रहे थे कि हम ही मर जाते हैं। कहने लगे कि तुमने उसके साथ प्यार करके हमारी नाक कटवा दी है, तू त्रिवेदी खानदान की इकलौती बेटी है, लोग क्या सोचेंगे, इज्जत मिट्टी में मिल जाएगी हमारी, अगर तुमने उससे शादी की तो हम मर जाएंगे। इसके बावजूद मैं अपने फैसले पर कायम रही तो उन्होंने कहा कि तू घर छोड़ दे और उसके पास चली जा या फिर हमलोग इस घर में नहीं रहेंगे।
——
मम्मी पापा ने ये कहा कि कि इस घर में या तो तू रहेगी या हम रहेंगे, और अगर तुझे यहां रहना है तो उसे भूल जा और हमारी मर्जी से शादी कर ले, या तू उसके साथ अभी भाग जा। इसके बाद मैंने अपने ब्वॉयफ्रेंड से बात की तो उसने कहा कि भागेंगे नहीं, दुल्हन बनाके शादी करके पूरी इज्जत के साथ ले जाऊंगा वरना मैं तो तैयार हूं भागने के लिए लेकिन ऐसा करूंगा नहीं। मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने कहा कि किसी तरह तुम वहां से बीटेक कर लो। 2018 में बीटेक पूरा होगा तब तक राजकोट में रहो।

मैं बहुत परेशान थी। मेरे मां पापा मुझे जीने नहीं दे रहे थे। पिछले सप्ताह मैंने जज्बात पेज के एडमिन राजीव से बात की तो उन्होंने बातों बातों में मुझे एक रास्ता सुझाया। राजीव ने कहा कि आप अपने राजकोट के फ्लैट में क्यों नहीं शिफ्ट हो जाती? मैंने कहा कि अकेली कैसे रहूंगी तो राजीव ने कहा कि अकेली रहिए, कुछ नहीं होगा? तो मुझे भी एक बार लगा कि सारे रास्ते आजमा लिए इसे भी आजमा कर देखती हूं।
—-
मां पापा ने तो घर से जाने को बोल ही दिया था। मैं अगले दिन अपना सारा सामान लेकर अपने फ्लैट में शिफ्ट हो गई जो मुझे मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने खरीदकर दिया था। फिर तो दो दिन बाद कमाल ही गया। मेरे मम्मी पापा, बुआ फूफा और अन्य रिश्तेदार मेरे फ्लैट पर आ गए और मुझे वापस घर लौटाने के लिए हाथ पैर जोड़ने लगे। मेरी मम्मी रोने लगी, पापा भी माफी मांगने लगे। उनका बिहेव बिल्कुल चेंज हो गया था।
—-
मुझे पहले तो अपने मम्मी पापा पर शक हुआ कि कहीं उनकी कोई चाल तो नहीं लेकिन फिर उनके बहुत कहने पर मैं मान गई और शर्त रखी कि वो लोग मुझे किसी और से शादी के लिए फोर्स नहीं करेंगे। उन्होंने शर्त मान ली और मैं फिर से अपने मम्मी पापा के घर लौट आई।

अभी वहीं रह रही हूं और मेरे मम्मी पापा का बिहेव बिल्कुल ही बदल गया है, मुझे यकीन नहीं था कि ऐसा होगा। लेकिन इसके पीछे उनकी कोई चाल तो नहीं, यही सोचकर डर जाती हूं? चाल हो भी सकती है! अचानक दो दिन में कोई कैसे बदल सकता है? जो मुझे घर से निकाल रहे थे, दिन-रात मेरे ऊपर जुल्म करते थे,अचानक मुझसे इतना प्यार कैसे जताने लगे?


घर लौटने के दो दिन बाद से ही मां – पापा पहले जैसे हो गए और मेरा घर से निकलना बंद कर दिया।

Advertisements