love story

मेरे पति मुझे बहुत मारते हैं, मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड के पास लौटना चाहती हूं

हर दिन मुझे मारते हैं। मैंने सबकुछ सहन कर लिया पर मैं क्या करूं। कुछ समझ नहीं आ रहा। जिसे मैं प्यार करती थी, उसने शादी नहीं की अभी तक। मैं सिर्फ अपनी बच्ची को खुश रखना चाहती हूं। क्या करूं?

मैं राजस्थान से अनुपमा हूं। मैं पापा की प्यारी बेटी थी। छोटे से ही बड़े लाड़-प्यार से पाली गई। मुझे किसी से प्यार हुआ था लेकिन कास्ट सेम नहीं था इसलिए घरवालों ने शादी करने से मना कर दिया। मैं राजपूत परिवार से हूं जहां बेटियों को ज्यादा ही इज्जत का सामान माना जाता है।

अनुपमा लव स्टोरी
—–
इज्जत के नाम पर मेरी शादी मुझसे 10 साल बड़े आदमी से कर दी गई। मैं बहुत रोई-गिड़गिड़ाई लेकिन किसी ने मेरी नहीं सुनी। मैं तो मां पापा की रानी बेटी थी लेकिन अचानक से बोझ बन गई उनके लिए और उन्होंने मेरी शादी जबर्दस्ती एक ऐसा आदमी से करा दी जिसे मैंने देखा तक नहीं था।
—–
फिर भी अपनी सारी ईच्छाओं को मारकर अपने परिवार के लिए शादी की। सबकुछ भूलकर उन्हें एक्सेप्ट किया लेकिन ये क्या, ससुराल में पैर रखते हुई घर की नौकरानी बना के रख दिया। खाना-पीना आना-जाना सब उनकी मर्जी से। मैं तो शायद उनके लिए इनसान बी नहीं।
—–
इसी दुख तकलीफ के बीच एक प्यारी गुड़िया को जन्म दिया। शायद बेटी उनको अच्छी नहीं लगी। क्या कसूर है उस मासूम बच्ची का। बेटी है लेकिन मेरे लिए तो मेरी बच्ची है। मेरी परी मेरी लाडो। उसके साथ भी बुरे तरीके से पेश आते हैं।
—–
मां पापा से कहती हूं तो वो बोलते हैं कि अब वही तेरा घर है। हां, मेरा ही घर है लेकिन मैंने तो सबकुछ दिया उन्हें पर वो मेरा घर कभी बना ही नहीं। उन्हें तो सिर्फ कामवाली और उनके लिए बेटा पैदा करनेवाली मशीन चाहिए थी।
—–
हर दिन मुझे मारते हैं। मैंने सबकुछ सहन कर लिया पर मैं क्या करूं। कुछ समझ नहीं आ रहा। जिसे मैं प्यार करती थी, उसने शादी नहीं की अभी तक। मैं सिर्फ अपनी बच्ची को खुश रखना चाहती हूं। क्या करूं?

Advertisements

Leave a Reply