love story

उसकी शादी हो चुकी है लेकिन वो अब कहती है कि मुझसे शादी कर लो

मैं काफी उदास और डरा हुआ हूं। वो शादीशुदा है। ऐसी परिस्थिति में मुझे क्या करना चाहिए, मैं कुछ समझ नहीं पा रहा, प्लीज गाइड मी। मैं उसे इस तरह उदास और रोते हुए नहीं देख सकता।

मैं शुभम हूं। मैं एक लड़की को बहुत चाहता था लेकिन यह नहीं जानता था कि यह चाहत सिर्फ आकर्षण है या फिर प्यार। हम दोनों एक दूसरे को बचपन से जानते थे। हम दोनों कोलकाता में केजी क्लास से पांचवीं तक साथ पढ़े थे। बचपन में काफी गहरी दोस्ती थी। पांचवीं के बाद हम दोनों अलग स्कूल में पढ़े और साथ भी छूट गया।

shubham love story
—-
12वीं में फिर हम दोनों एक ही स्कूल में थे लेकिन सात सालों की दूरी के बाद जब मिले तो हम दोनों के रिश्ते की गहराई बचपन वाली नहीं थी क्योंकि हम बड़े हो गए थे। मैं उसे एवॉयड करता था और उससे बातचीत करने से कतराता था। एक दिन उसने मुझसे फिजिक्स का नोटबुक मांगा। दरअसल उसने कुछ क्लास मिस कर दिए थे इस वजह से उसको नोट्स चाहिए थे।
—-
इस नोटबुक की वजह से फिर हमारी बातचीत शुरू हुई। वो बहुत शर्मीली थी और शरारती भी। कभी-कभी बेहद इन्नोसेंट, बहुत भोली सी। मैं बहुत खुश था कि 7 साल बाद फिर उसे देखा, उससे मिला। हम दोनों ने साथ में ग्रेजुएशन 2013 में किया।
—-
एक दिन उसने कॉल किया और कहा कि मेरे साथ बाजार चलो, मुझे कुछ कपड़े खरीदने हैं। मैं बिना सोचे उसके साथ चल पड़ा। रास्ते में बात करते-करते अचानक उसने कहा, तुम मुझसे शादी करोगे। मैं शॉक्ड रह गया। मैंने कहा-व्हाट। इसके बाद वो जोर-जोर से हंसने लगी और मेरी आंखों में आंखें डालकर कहा कि अरे मजाक की थी बाबा, डोन्ट बी सीरियस।
—-
मैं उसके मजाक पर खामोश था। उस घटना के दिन जब हम वापस लौटे तो वो बिना मुझे बाय बोले ही घर के अंदर चली गई जबकि रोज वो मुझे बाय-बाय बोलती थी। उसके चलने का अंदाज भी कुछ अलग सा हो गया था। वह नॉर्मल नहीं थी। इसके कुछ दिन बाद तक उसने मुझसे कॉन्टेक्ट नहीं किया।
—-
कुछ महीने बाद मेरी गुवाहाटी में जॉब लग गई और मैं चला गया। दो महीने बाद मेरे पास एक फ्रेंड का कॉल आया जिसने बताया कि उस लड़की की अगले महीने शादी है। मैं यह सुनकर उदास नहीं हुआ क्योंकि मुझे हमेशा लगता रहा कि उसके साथ मेरा रिश्ता बस स्कूल टाइम का अट्रैक्शन था, और कुछ नहीं।
—–
उसकी शादी को एक साल हो गए। एक दिन उसका एक एसएमएस आया। मैसेज में उसने सैड इमोटिकोन्स भेजे थे और लिखा था, ‘दिल में आपकी हर बात रहेगी, बस्ती छोटी है मगर आबाद रहेगी, चाहे भुला देना सारे जमाने को, लेकिन आपकी प्यारी सी दिल्लगी हमेशा याद रहेगी।’
—–
इसके अगले ही दिन उसका कॉल आया और वो बहुत रो रही थी। उसने कहा, ‘मैं तुमसे ट्रू लव करती हूं। मैं बास्टर्ड पति के साथ नहीं जी सकती, वह मुझे पीटता है, टॉर्चर करता है, मुझसे पैसे मांगता है। मैं तुम्हारे साथ जीना चाहती हूं, मैं तुमसे शादी करना चाहती थी इसलिए पूछा था। मैं मजाक नहीं कर रही थी, वो मेरी सच्ची फीलिंग थी। मैं तुम्हारी हूं, मुझे एक्सेप्ट कर लो’। यह कहने के बाद फिर वो जोर-जोर से रोने लगी और रोती ही रही।
—–
मैं काफी असमंजस में पड़ गया। उसका रोना सुनकर मुझे अजीब सा लगने लगा और मुझे समझ में नहीं आया कि ऐसे में मुझे क्या करना चाहिए? मैंने उसे बहुत समझाने की कोशिश की कि समय के साथ सब ठीक हो जाएगा, अब तुम शादीशुदा हो। यह सुनकर और भी रोने लगती है। वह कहती है, ‘मैं कुछ नहीं जानती, मैं तुम्हारे साथ रहूंगी।’
—–
कुछ सप्ताह बाद मैं दीवाली पर घर गया था। वो भी ससुराल से आई थी। वहां हम दोनों बाहर मिले तो उसने फिर रोना शुरू कर दिया। वह मुझे पकड़कर बच्चों की तरह रोए जा रही थी। कुछ देर बाद वो अचानक बेहोश हो गई तो मैं घबरा गया। मैं उसे डॉक्टर के पास ले गया। डॉक्टर ने कहा कि इसके साथ समय बिताओ और इसे खुश रखने की कोशिश करो।
——
मैं काफी उदास और डरा हुआ हूं। वो शादीशुदा है। ऐसी परिस्थिति में मुझे क्या करना चाहिए, मैं कुछ समझ नहीं पा रहा, प्लीज गाइड मी। मैं उसे इस तरह उदास और रोते हुए नहीं देख सकता। अगर उसके साथ कुछ हो गया तो मैं अपने आपको जीवनभर माफ नहीं कर पाऊंगा। मैं बहुत दुविधा में हूं, कुछ समझ नहीं पा रहा।

Advertisements

Leave a Reply