love story

छत्तीसगढ़ की हिंदू लड़की का गुजरात के मुस्लिम लड़के से प्यार – पढ़िए विद्या की प्रेम कहानी

इंशाअल्लाह हम मिलेंगे फिर से। अल्लाह से दुआ कीजिए कि प्लीज वो जल्दी से मुझसे बात कर ले। मैं नहीं रह पा रही उसके बिना। अगर वो पास होता तो मिलकर मना लेती लेकिन वो इतना दूर है कि जा भी नहीं सकती। साथ होने की कोशिश किए बिना वो दूर होता जा रहा है। मैं बहुत ज्यादा परेशान हूं।

मैं छत्तीसगढ़ से विद्या हूं। मैं 2015 में फेसबुक पर आई। कुछ महीने बाद मेरे सारे फ्रेंड्स ऑफलाइन थे और मैं बोर हो रही थी तब जिसने भी रिक्वेस्ट भेजे थे, उसे एक्सेप्ट करने लगी। यह सब टाइमपास के लिए मैंने किया था। आमिर मलिक नाम का एक अजनबी मुझे मैसेज करता था लेकिन मैं रिप्लाई नहीं देती थी।

vidya love story
—–
वो हाय, हेलो करते रहता था। एक दिन उसका मैसेज आया कि – तुम अजनबी से बात नहीं करती हो क्या। मैंने रिप्लाई किया कि- हां नहीं करती। फिर वो बोला – लेकिन एफबी पर तो ज्यादातर अजनबी ही होते हैं। मैंने जवाब दिया – मेरे बहुत फ्रेंड हैं, कोई नया फ्रेंड नहीं बनाना चाहती। फिर धीरे-धीरे वो मैसेज करता और मैं गुस्से में रिप्लाई करती।
——
थोड़ी नोंकझोंक होती रही और फिर हमारे बीच दोस्ती हो गई। वो दुबई में जॉब करता है पर घर उसका गुजरात में है। वो मुसलमान है और मैं हिंदू। हमारी दोस्ती धीरे-धीरे बढ़ती गई। पहले दिनभर बातें करते रहते थे, फिर पूरी रात बातें करने लगे। उसको सुबह ऑफिस भी जाना होता था फिर भी वो मुझसे बात करने के लिए रातभर जागता था।
——-
हम दोनों एक-दूसरे के प्यार में पड़ गए। वो मुझे बिना देखे ही प्यार करने लगा और मैं तो उसकी पिक देख चुकी थी। उसका वीडियो भी देख चुकी थी लेकिन मैं उसके सामने कभी नहीं आती थी। वो प्यार तो करता था पर प्यार का इजहार नहीं करता था। मेरी बेचैनी बढ़ने लगी थी। मैं उससे आई लव यू सुनना चाहती थी, लेकिन वो बस आई मिस यू, आई मिस यू करता था।
——-
वो बोलना चाहता था लेकिन मैं कहीं बुरा न मान जाऊं, इस डर से कभी बता ही नहीं पाता था। एक रात मुझसे रहा नहीं गया और मैंने आई लव यू का स्टिकर उसको सेंड किया। फिर मैं घबरा गई और कुछ समझ नहीं आया, फोन ऑफ कर दी। वो उधर स्टिकर देखकर रातभर परेशान रहा और इधर मैं परेशान थी कि पता नहीं वो क्या जवाब देगा।
——–
सुबह उठी तो मैंने उसको मैसेज में सॉरी कहा और लिखा कि गलती से वो स्टिकर सेंड हुआ था लेकिन उसका भी जवाब आया कि आई लव यू टू। फिर तो मैंने उस पर बहुत गुस्सा की। बोली कि जब प्यार करते थे तो खुद ही पहले से नहीं बोल सकते थे, मेरे बोलने का इंतजार करते थे। वो बोला कि डरता था कि कहीं तुम बुरा मान गई तो दोस्ती भी खत्म न हो जाए।
——–
फिर मैंने उसको अपनी पिक दिखाई, वीडियो कॉलिंग में सामने आई। मेरा डर अब खत्म हो गया था। धीरे-धीरे हमारा प्यार बढ़ता गया। वो मुझसे रमजान पर मिलने आया। वो गुजरात अपने घर आया था तो छत्तीसगढ़ भी आया। पहली बार जब हम मिले तो वो मुलाकात मैं कभी भूल नहीं पाऊंगी। पहली बार हम दोनों एक दूसरे से रूबरू हुए। आमने-सामने देखा।
——-
मुझे लगा ही नहीं कि वो अजनबी है। अजनबी होकर भी वो बहुत अपना सा लगा। वो मुझसे मिलकर होटल में रात में रुका लेकिन रात में ही घर निकल गया। मैंने सुबह उठकर मैसेज देखा तो उसमें लिखा था कि घर में कुछ प्रॉब्लम हो गई है, इस वजह से निकल रहा हूं। मैं बहुत रोई, मुझे लग रहा था कि शायद मैं उसको पसंद नहीं आई लेकिन बाद में पता चला कि ऐसा कुछ नहीं था।
——–
2016 के जून में वो पहली बार आया था। फिर दुबई जाने के बाद दुबारा सितंबर 2016 में आया। इस बार वो मेरे साथ मंदिर भी गया। वो मुस्लिम है, फिर भी मंदिर गया तो बहुत अच्छा लगा। उसके साथ गुजारे गए वो पल बेहद खास हैं। 26 सितंबर को उसका जन्मदिन आनेवाला है लेकिन इस साल वो मेरे साथ नहीं है।
——–
पिछले एक महीने से वो मुझसे बात नहीं कर रहा है। मैं उससे शादी के लिए जिद करती हूं इसलिए वो दूर जा रहा है। मैं उसके प्यार में इतना आगे बढ़ चुकी हूं कि उसके बिना रहा नहीं जाता और उसकी मजबूरी ये है कि वो मुझे अपना बना नहीं सकता। इस बात को लेकर हमारे बीच प्रॉब्ल्म्स हो जाती है। मैं गुस्सा करती हूं, रोती हूं और वो परेशान होता है।
——–
अगर उसने मुझसे शादी नहीं की तो भी मैं उसको उतना ही प्यार करुंगी लेकिन उसके बिना खुश नहीं रह सकती। पता नहीं वो मेरे बिना कैसे रह लेता है। एक महीने से पल-पल मर रही हूं। मलिक, मैं तुमको बहुत मिस करती हूं, आई लव यू फोरेवर।
——–
इंशाअल्लाह हम मिलेंगे फिर से। अल्लाह से दुआ कीजिए कि प्लीज वो जल्दी से मुझसे बात कर ले। मैं नहीं रह पा रही उसके बिना। अगर वो पास होता तो मिलकर मना लेती लेकिन वो इतना दूर है कि जा भी नहीं सकती। साथ होने की कोशिश किए बिना वो दूर होता जा रहा है। मैं बहुत ज्यादा परेशान हूं।

Advertisements

Leave a Reply