kush love story

उसकी सगाई हो गई लेकिन मुझे दुख नहीं हुआ, क्यों – कुश की लव स्टोरी

मेरा नाम कुश है, मैं राजस्थान से हूं । ये कहानी आज से 4 साल पहले की है जब मेरी बात एक दूर के रिश्ते मे एक लड़की से हुई। उसके बाद हम काफी अच्छे दोस्त बन गए और इसी तरह कुछ दिन बस नॉर्मल बात करते थे।

कुछ दिन बाद मैंने उसे अपने दिल की बात कह दी। पहले तो डर लगा पर हिम्मत करके कह दी। उसने भी मुझे हां कह दी। इस तरह हमारी लाइफ एक दम सही चलने लगी। कभी कभी छोटे छोटे झगड़े भी हुआ करते है हम दोनो में, लेकिन ये बात मैं जानता हूं कि वो मुझे सच में बहुत प्यार करती है।

4 साल हमने एक साथ बिताए हैं। अब उसकी शादी की बात चल रही है क्योंकि हमको पता है हमारी शादी कभी नहीं हो सकती इसलिए इस बात को लेके कभी कोई कुछ झगड़ा नहीं हुआ जैसा सबमें होता है। अक्सर कपल में दोनों में से हर कोई दूसरे को गलत साबित करने में लग जाता है लेकिन हम दोनो के बीच सब एक दम सही रहा।
kush love story
पर उसकी शादी की बात सुनके मुझे अपने लिए बहुत बुरा लगता है कि इसके बिना कैसे रहूंगा पर फिर जब उसकी तरफ से सोचता हूं तो लगता है कि ये तो होना ही है और उसकी जिंदगी की इस खुशी में कुछ गलत करना नहीं चाहता। उसकी सगाई हो चुकी है। मुझसे दूर जाने का उसे बहुत दुख है।

मुझे बस एक बात समझ नहीं आ रही कि अगर मैंने उसे सच्चा प्यार किया है तो मुझे इतना दुख क्यों नहीं इस बात का, जितना उसे है कि वो मेरी नहीं हो सकेगी कभी। मुझे लगता है कभी कभी कि मैंने उसे उतना प्यार नहीं किया जितना शायद उसने मुझसे किया है क्योंकि मुझे अपने लिए तो बुरा लगता है पर ज्यादा नहीं क्योंकि मैं बस उसकी खुशी चाहता हूं।

आप सभी से बस एक बात पूछना चाहता हूँ कि क्या मैं सही हूँ अपनी जगह या मैंने सच में उसे कभी इतना प्यार किया ही नहीं। पर इतना कहूंगा कि मैंने आज तक 4 साल में उसके अलावा किसी के लिए सोचा भी नहीं। क्या है, क्या नहीं समझ नही पा रहा हूँ। क्या सच में ऐसा हो सकता है कि किसी को इतना प्यार करो और वो दूर जाए तो दुख तो हो लेकिन उसकी खुशी की चाहत के आगे वो दुख कम पड़ जाए। क्या ये सच में प्यार ही था मेरा या बस उसके लिए एक लगाव ?

Advertisements

Leave a Reply