anuj love story

हम दोनों ने कोर्ट मैरिज की और बाद में सबने एक्सेप्ट किया – निशा की लव स्टोरी

मैं निशा हूं। अनुज के साथ मेरी दोस्ती फेसबुक पर हुई थी। अनुज ने मुझे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजा था लेकिन मैंने एड नहीं किया। फिर वो मुझे मैसेज भेजने लगा कि मुझे एड करो। जब उसने बहुत कहा तो मैंने उसको एड कर लिया। हमारी बात होने लगी। मैंने उसे बताया कि मैं जबलपुर से हूं तो वो बोला कि मैं राजस्थान में हूं और इंजीनयरिंग कर रहा हूं।

एक दिन मैं अपने रिलेटिव की शादी में गई थी जहां मेरा फोन बंद हो गया था। तभी अनुज ने मुझे मैसेज भेजा था कि मैं तुमसे प्यार करता हूं। मैंने जब फोन ऑन किया तो मैसेज देखकर बहुत अजीब लगने लगा कि ये क्या बोल रहा है, हम तो अच्छे दोस्त हैं। अनुज ने मुझसे कहा कि तुम टाइम लेना चाहती हो तो ले लो। मैंने बहुत सोचा और फिर हां बोल दिया।

anuj love story

वो मुझसे मिलने जबलपुर आया। हम फेसबुक पर एक दूसरे को पहले ही देख चुके थे पर आमने सामने मिलना था तो मिल कर भी देख लिया। इसके बाद हम मिलने लगे और साथ घूमने लगे। वो जब भी आता तो हम घूमने साथ जाते थे। एक दिन मेरी फ्रेंड और उसका ब्वॉयफ्रेंड भी हमारे साथ था तो उसने पूछा लिया कि तुम दोनों शादी कब कर रहे हो। अनुज ने मुझसे बिना पूछे ही बोल दिया कि हम 24 सितंबर को शादी कर रहे हैं, आप जरूर आना। यह 2014 की बात है।

अब अनुज ने बोल तो दिया लेकिन टेंशन मुझे हो गई कि शादी होगी कैसे, हमने तो घर में बात ही नहीं की थी। मैंने पहले ये बात मां को बताई क्योंकि पापा तो मान ही जाते क्योंकि वो मुझसे बहुत प्यार करते हैं। मम्मी ने शादी से मना कर दिया। इसके बाद मैंने अनुज को बताया कि मां नहीं मान रही तो वो सीधे मेरे घर चला आया और मम्मी से मिला। मम्मी ने उसे देखा और बात की। अनुज के जाने के बाद बोली कि लड़का मुझे पसंद नहीं है।

इसके बाद अनुज और मैंने शादी का फैसला ले लिया और कोर्ट मैरिज कर ली। मम्मी को जब पता चला तो वो मान गई और अनुज के घर वाले पहले तो नहीं माने लेकिन एक साल बाद उन्होंने भी एक्सेप्ट कर लिया। अनुज की बैंक में मुंबई में जॉब लग गई तो हम दोनों मुंबई शिफ्ट हो गए। मायके और ससुराल दोनों जगह सभी लोग खुश हैं और हम कॉन्टेक्ट में रहते हैं। मेरी सासू मां तो बहुत ही अच्छी है। बस यही हमारी कहानी है।

इस कहानी का एक हिस्सा अनुज ने भी लिखा है….वो भी पेश है…
निशु और मैंने कोर्ट मैरिज करने के बाद घर वालों को बताया था। हमारे घरवाले आखिरकार मान गए। हमारी शादी के तीन साल हो चुके हैं और हम बहुत अच्छे से रहते हैं, हर प्रॉब्लम में एक दूसरे का साथ देते हैं। हमारे घरवाले ये देखकर बहुत खुश हैं कि हम दोनों ने सही किया क्योंकि हम दोनों ने शादी का फैसला लिया था और हमें ही एक दूसरे के साथ रहना था, किसी और को नहीं। मैं निशु से बहुत प्यार करता हूं, आई लव यू निशु। मैं प्यार से निशा को निशु बोलता हूं। वो भी मेरा बहुत ख्याल रखती है, बिल्कुल मेरी मॉम की तरह है। मैं हमेशा उसे हर काम में सपोर्ट करता हूं। हम मुंबई में खुशी-खुशी रहते हैं।

Advertisements

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.