shradha love story

जज्बात पेज की वजह से प्रेमी जोड़ों की जान बची

इस पेज की वजह से कुछ लोगों की जान भी बची है। 5 महीने पहले एक रात को ऐसी ही घटना हुई थी। उस रात अगर मैंने सोने से पहले जज्बात पेज का वाट्सएप चेक न किया होता तो शायद कुछ बुरा हो सकता था। लगभग 12 बजे मैं सोने जा रहा था तो मैंने जज्बात पेज के नंबर का वाट्सएप देखा तो एक लड़की श्रद्धा का मैसेज था – उसने लिखा था कि दिल्ली में उसका परिवार रहता है और वहीं मोहल्ले के लड़के से उसका अफेयर था।

इस अफेयर के बारे में जैसे ही श्रद्धा के परिवार को पता चला, उन्होंने उसको दिल्ली से आजमगढ़ भेज दिया और जल्दबाजी में यूपी पुलिस के एक सिपाही से उसकी शादी तय कर दी। जिस दिन सगाई होनी थी, उससे ठीक एक दिन पहले श्रद्धा और उसके लवर ने चुपके से भागने का प्लान बनाया। लड़का दिल्ली से आजमगढ़ की ओर चला और उधर श्रद्धा भी तैयारी में थी लेकिन उसके घर वालों को इस भागने के प्लान के बारे में पता चल गया।

shradha love story

दरअसल लड़के ने दिल्ली से आजमगढ़ जाने से पहले वहां कुछ लोगों को इस बारे में बता दिया और उन लोगों ने श्रद्धा के मां-बाप को इसकी जानकारी दे दी थी। लड़का ट्रेन में था और इधर आजमगढ़ में श्रद्धा के घर के लोग रेलवे स्टेशन पर उसका इंतजार कर रहे थे। वो लोग लड़के के साथ कुछ भी कर सकते थे, इस डर से श्रद्धा सहम गई थी और वह चोरी से रखे गए एक मोबाइल से लगातार अपने लवर को वापस दिल्ली लौटने को कह रही थी।

लेकिन लड़का लौटने को तैयार नहीं था, वह श्रद्धा से कह रहा था कि वो जान दे देगा लेकिन आजमगढ़ जरूर आएगा। अभी ट्रेन कानपुर से पीछे ही थी कि श्रद्धा का मैसेज मेरे पास रात को आया था। उसने मुझसे कहा कि आप ही किसी तरह उसको समझाइए कि वो आजमगढ़ न आए, उसकी जान को खतरा है। मैं भी बात सुनकर परेशान हुआ लेकिन जानता था कि दीवाने को बस उसकी प्रेमिका ही रोक सकती थी।

मैंने श्रद्धा से कहा कि तुम उसको बोलो कि जान बचेगी तब तो हम दोनों मिल पाएंगे और कहो कि हम जरूर मिलेंगे लेकिन इस वक्त लौट जाओ। मैंने कहा कि श्रद्धा आज की रात जितने वादे कर सकती हो, झूठ भी बोलना पड़े तो बोलो लेकिन इसको ट्रेन से उतारना है। इसके बाद वो फिर से लड़के को मनाने लगी और आखिरकार रोते-धोते वो कानपुर स्टेशन पर उतरने के लिए तैयार हो गया। श्रद्धा ने उस लड़के को मेरा नंबर दे दिया था।

अगले दिन श्रद्धा की सगाई हो गई और इधर लड़का दिल्ली पहुंचा तो मुझे परेशान करने लगा। मैंने कहा कि वकील और पुलिस की मदद लो। लड़का काफी परेशान था लेकिन मुझे इस बात की खुशी थी कि भले श्रद्धा की सगाई किसी और से हो गई लेकिन दो जानें बच गईं। उस दिन के बाद अचानक श्रद्धा गायब हो गई और लगभग दो महीने बाद उसने मुझे नए नंबर से मैसेज किया।

श्रद्धा ने कहा कि मैंने मां-बाप के लिए जिंदगी में आगे बढ़ने का फैसला लिया है। उसके लवर ने भी कोशिश करनी छोड़ दी क्योंकि श्रद्धा ने फोन पर बाद में उसको साफ मना कर दिया था कि उसकी सगाई हो चुकी है और अब वो मां-बाप की इज्जत की परवाह करती है। दरअसल सगाई के ठीक बाद श्रद्धा के मां-बाप ने उसको रिश्तों और इज्जत का वास्ता दिया था जिसके बाद वो मजबूर हो गई थी।

श्रद्धा ने मुझसे कहा कि मैंने खुद को किस्मत के भरोसे पर छोड़ दिया है। मैं नहीं जानती कि आगे मेरा क्या होगा? और आखिरी बात जो उसने कही, वो मैं कभी भूल नहीं पाऊंगा। उसने कहा कि अगर कभी उसका लवर मिले तो कहिएगा कि श्रद्धा उसकी जान बचाने के लिए बेवफा हो गई।

Advertisements

कमेंट्स यहां लिखें-

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s