Category Archives: आवारा शायरी

शायरी – तेरे जीने की दुआ मांगती हूं मैं

#100 बेवफा शायरी

मेरी आंखों में तू ही बसा है

ये हर आईने को पता है

तेरे जीने की दुआ मांगती हूं मैं

पर तूने दी मौत की सजा है

  1. थे करीब हम-तुम लेकिन बंदिशें थी बेहिसाब
  2. तुम्हारे गम से दिल रोता रहा रातभर तन्हा
  3. उनको होता है कभी भी सच्चा प्यार नहीं
  4. इश्क में इन आँखों में ये अजीब हालात थी
  5. जब तलक दिल किसी का नहीं टूटेगा
Advertisements

खुदाई शायरी- तेरी बंदगी अब तेरी गली में

prevnext

मेरी जिंदगी अब तेरी गली में
तेरी बंदगी अब तेरी गली में

तेरे शहर में भटका बहुत हूं
ये आवारगी अब तेरी गली में

दिल से नजर तक तू छा गई
खोजूं मैं खुद को तेरी गली में

तू मेरे ख्वाबों की कमसिन परी
देखता हूं तुझे मैं तेरी गली में

©RajeevSingh

शायरी- उल्फत में जान निकल जाए

prevnext

गिरके ना ये फिर संभल जाए
उल्फत में जान निकल जाए

रूह का दीपक तो जला
ये जिस्म चाहे पिघल जाए

मर्जी हो तेरी तो आ जाओ
मेरा आशियां ये बदल जाए

कश्ती समंदर में कैसे रूके
किनारे से जो फिसल जाए

©RajeevSingh

शायरी – तेरी नजरों में जब समाया तो

love shyari next
क्या हुआ होश में न आया तो
तेरी नजरों में जब समाया तो
नहीं आ सकता मैं तेरे घर में
तूने छत पे मुझे बुलाया तो
लो उठा दर्द भी मेरे सीने में
अभी सीने से तुझे लगाया तो
मैं भटकता जा रहा था कहीं
तूने मंजिल मुझे दिखाया तो

©RajeevSingh