Category Archives: इश्क़ शायरी

इश्क़ शायरी में पढ़िए दिल की गहराई में उतर जाने वाली इश्क़ की शायरी। एक एक लफ्ज़ इश्क़ के जज्बातों में डूबा हुआ। ये इश्क़ शायरी आपको मोहब्बत के दर्द से रू ब रू कराएगी।

शायरी – मेरी आंखों में तेरी झलक की लकीर ही सही

meri aankhone me shayari

 

मेरी आंखों में तेरी झलक की लकीर ही सही
मेरे पास तू तो नहीं, तेरी एक तस्वीर ही सही

तेरी बाहों में मेरी खुशियों की धन दौलत है
तुझे पाने को भटकता दिल फकीर ही सही

इश्क की आखिरी सांसों की जिंदगी हो तुम
मरते रांझे के सीने में धड़कती हीर ही सही

तेरे जख्मों की किताब को पढ़ता है दीवाना
तेरी कहानी में जो मिले वो तकदीर ही सही

Written by Rajeev Singh

shayari – उसे मेरी उदासी कभी दिखाई नहीं देती

shayari latest shayari new

गुनाह की सजा शायरी

उसे मेरी उदासी कभी दिखाई नहीं देती
मेरे इश्क की फरियाद सुनाई नहीं देती

दिल का रोग लेकर उसके पास गया मैं
मेरा दर्द समझकर मुझे दवाई नहीं देती

आखिर उससे मोहब्बत कैसे हासिल हो
जब मुझे एक पल की बेवफाई नहीं देती

मुझे किस गुनाह की सजा दे रही हो तुम
पूछता हूं मगर वो कभी सफाई नहीं देती

shayari green pre shayari green next

shayari – तू दवा लेकर न आई गम ए इश्क में

shayari latest shayari new

तेरे इश्क में शायरी

तू दवा लेकर न आई गम ए इश्क में
जिंदगी बीमार हो गई है तेरे इश्क में

रात अधूरी सी दास्तान बनके रह गई
दिल लिखता रहा रातभर तेरे इश्क में

तेरी याद से परहेज न कर सका कभी
रोग बढ़ता ही जा रहा है तेरे इश्क में

जीने वाले लोग ये समझ ही नहीं पाते
क्यों बेकार में मर रहा हूं तेरे इश्क में

©rajeevsingh                                     shayari

shayari green pre shayari green next

शायरी – कोई दवा नहीं बस उम्रभर मर्ज देती है

shayari latest shayari new

आंख में आंसू फोटो

कोई दवा नहीं बस उम्रभर मर्ज देती है
क्या खबर थी जिंदगी इतना दर्द देती है

जितनी बार प्यार की तलाश करता हूं
दुनिया हमेशा मासूम खुदगर्ज देती है

आंखों में जमे आंसू तो बाहर न निकले
मोहब्बत दिल को मौसम सर्द देती है

आशिकी में बेवफाई लाजिमी है जहां
घर की रिश्तेदारी रोज नया फर्ज देती है

©rajeevsingh        शायरी

shayari green pre shayari green next

Save

Save

Save

Save

Save

Save

इश्क़ शायरी – तेरी बाहों में बस जाऊं, और मेरी मंजिल है क्या

shayari latest shayari new

दो लफ्जों का प्यार इमेज
किन लफ्जों में तुमसे कह दूं अपनी ये ख्वाहिशें
बिन कहे तुम समझ लो, हां मेरी मंजिल है क्या

shayari green pre shayari green next