Category Archives: गम शायरी

शायरी – गम के मारों में तो समंदर छुपा होता है

new prev new shayari pic

इतना दर्द आंखों के अंदर छुपा होता है
गम के मारों में तो समंदर छुपा होता है

जिसे खुदा के सिवा किसी का खौफ नहीं
उसी शख्स में तो सिकंदर छुपा होता है

हुस्न के चेहरे से जब खामोशी छलकती है
वहीं सच्चे आशिक का मंजर छुपा होता है

ऐसी दुनिया में अकेले ही रह गए हैं जहां
रिश्तों की आस्तीन में खंजर छुपा होता है

©राजीव सिंह शायरी

Advertisements

शायरी – तुझे भी अपना कोई जख्म हम दिखा न सके

red pre red nex

वो तकलीफ जो दुनिया को हम बता न सके
तुझे भी अपना कोई जख्म हम दिखा न सके

जहां हर ओर बेवफाई के फूल ही खिलते हों
उस चमन में वफा के कांटों को बचा न सके

अजीब कशमकश में फंसी जिंदगी किधर जाए
अपने याद आते रहे ओर तुमको भुला न सके

अंजामे मोहब्बत बुरा ही होगा, ऐसा लगता है
रोज दिखती हो मगर गले से तुझे लगा न सके

©RajeevSingh

शायरी – हर दामन में शोला है

love shayari hindi shayari


हर दामन में शोला है
जीवन आग का गोला है

दुख की अग्नि एक चिता है
इंसां लाश का चोला है

अपने लड़ते हैं अपनों से
हर घर में ये झमेला है

दुनिया के ये सारे लफड़े
बेमतलब का खेला है


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी- है अमावस सी जिंदगी तन्हा

love shayari hindi shayari


पास जब तक वो नहीं आते
हम इलाजे-जिगर नहीं पाते

तेरी तस्वीर चूमता हूं मगर
वो नाजुक सी लहर नहीं पाते

है अमावस सी जिंदगी तन्हा
कोई माहताब उभर नहीं पाते

कितनी मायूस है मेरी नजर
अश्क भी रहगुजर नहीं पाते


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – इश्क में दिल को ठेस लगाना

love shyari next
इश्क में दिल को ठेस लगाना
तुम बेवफा का रस्म निभाना
बंदा ये कमजोर बहुत है
मौत के दर तक छोड़के आना
तेरी गली में कांटे हैं कितने
लेकिन गुलाबों का नहीं ठिकाना
क्या-क्या सितम भूल चुका हूं
ऐ दिल कभी न याद दिलाना

©RajeevSingh

शायरी – इन भरी आंखों से दुआ न दो

love shyari next

बुझ गए चांद को सदा न दो
इस कदर दिल को सजा न दो

तुम किसी की खुशी के लिए
इन भरी आंखों से दुआ न दो

जिसने दुनिया में जीना सीखा
उसके ईमान का वास्ता न दो

हुस्न और सादगी का वो चेहरा
यादकर दर्द को रास्ता न दो

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari