Category Archives: दर्द भरे शायरी

shayari – अजनबी रिश्तों की कोई निशानी नहीं जानी

shayari latest shayari new

जवानी की महफिल शायरी इमेज

अजनबी रिश्तों की कोई निशानी नहीं जानी
अपने ही घर में किसी की कहानी नहीं जानी

दो पल साथ हों, किसी के पास वक्त कहां था
अपनों ने फिर अपनों की परेशानी नहीं जानी

जवानी की इन महफिलों में गुम होकर हमने
कभी बुजुर्गों की जिंदगी की वीरानी नहीं जानी

अक्लवाले ही बच जाएंगे इस दुनिया में शायद
यहां तो बच्चों ने बचपन की नादानी नहीं जानी

अश्को को छुपाने की मुश्किल कोशिश में वो
रो लेने से जीने में होती है आसानी नहीं जानी

©rajeevsingh                                     shayari

shayari green pre shayari green next

Save

Save

Save

Advertisements

मोम से ये वजूद मेरा बहुत जल्दी पिघलता है

shayari latest shayari new

जिंदगी तेरा इश्क शायरी
जिंदगी तेरे इश्क में कितनी दूर हम चल चुके
मिला सुकूं कहीं नहीं, कितने शहर बदल चुके

shayari green pre shayari green next

प्यार का दर्द शायरी इमेज – कभी देख न पाऊं शायद तेरी एक झलक

new prev new shayari pic

बहुत रोकता हूं मगर तेरी याद आते ही कुछ बेबस आंसू आंखों से जाते हैं छलक
बहुत रोकता हूं मगर तेरी याद आते ही
कुछ बेबस आंसू आंखों से जाते हैं छलक

prev shayari green next shayari green

शायरी ईमेज l ये दिल बड़ा प्यासा है कुछ और प्यास दे दो

दिल की प्यास शायरी पिक
दुनिया से ऊब चुका हूं, कुछ और सांस दे दो
ये दिल बड़ा प्यासा है, कुछ और प्यास दे दो

 

red prev shayari pic red next shayari image

शायरी – तेरी बेवफाई का गिला कैसा

new prev new shayari pic

हम उस मुकाम पर नहीं होते
अजनबी रास्ते जहां नहीं होते

तेरी बेवफाई का गिला कैसा
धोखे दुनिया में कहां नहीं होते

ऐ हुस्न गर तू उदास न होती
तुम्हारे दीवाने वहां नहीं होते

हर टुकड़ा दर्द का कहता है
टूटे आईनों के जुबां नहीं होते

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – दिल के घर में चुपके से वो

new prev new shayari pic

हमने ही तो आग लगाई
बेशक उसने थी सुलगाई

दिल के घर में चुपके से वो
एक दीया थी लेकर आई

जलकर खाक हुआ फिर भी
हमने उसकी जान बचाई

मरकर चला गया दीवाना
तुम देने नहीं आई विदाई

©राजीव सिंह शायरी