Category Archives: बेस्ट हिंदी शायरी

shayari – शायद मुझसे कुछ कहना चाहती हो

shayari latest shayari new

ऐ खामोश लड़की शायरी इमेज

शायद मुझसे कुछ कहना चाहती हो
जो भी जवाब है उसे क्यों छुपाती हो

मैंने पूछा कि कहो प्यार है कि नहीं
हां या ना के लिए इतना तरसाती हो

सामने आकर सवाल करता हूं और
यूं नजरें चुराकर तुम गुजर जाती हो

मालूम नहीं कि क्या है तेरे दिल में
परेशान हूं, तुम क्यों नहीं बताती हो

ऐ खामोश तुमसे शिकायत है इतनी
मेरी उलझन तुम नहीं सुलझाती हो

अब और इंतजार करना मुश्किल है
बता भी दो, क्यों इतना तड़पाती हो

shayari green pre shayari green next

Advertisements

ईमेज शायरी – समंदर को बिलखने से भला क्या मिलता

red prev shayari pic red next shayari image

इश्क समंदर शायरी फोटो
शहर में चिड़िया भटकती रही तन्हा-तन्हा
इस जंगल में उसे नशेमन भला क्या मिलता

शायरी – मुमकिन है वो साथ न आए

new prev new next

मुमकिन है वो साथ न आए
हाथ में उसका हाथ न आए

अब मुझको तुम भूल ही जाओ
उनके लबों पे ये बात न आए

तेरे बिना जो कट मरती हो
ऐसी कातिल ये रात न आए

प्यास बहुत है दिल में बाकी
दो दिन की बरसात न आए

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – गम न खाते तो वो हमसे खफा हो जाते

red prev red next

गम न खाते तो वो हमसे खफा हो जाते
हमें डर था कि कभी वो बेवफा हो जाते

इंतजार था अपने जख्मों के भर जाने का
एक पल के लिए तो कभी वो दवा हो जाते

जमाने में तो इस तन्हा का दम घुटता है
दिल भी जी लेता जो कभी वो हवा हो जाते

उनकी खातिर ही हम रोज गजल लिखते हैं
इसे पढ़ते तो शायद कभी वो फिदा हो जाते

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – सुनते रहे बस उसकी, वो कहती रही बतियां

love shayari hindi shayari

एक बार जो फेरी थीं उसने मेरी तरफ अंखियां
पलभर में लगी आग, बुझाने में लगी सदियां

मुहब्बत ने हमको चुप रहने की सजा दी है
सुनते रहे बस उसकी, वो कहती रही बतियां

हर शाम को हमें छोड़के वो घर जाती है लेकिन
कभी पूछा नहीं हमसे कि कैसे कटती हैं रतियां

जितनी देर वह दूर रहती है, मेरा दिल दुखता है
वो अपने साथ ही लाती है दिलकश चंद घड़ियां

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – मेरी जान अब तुमको भुलाना है मुश्किल

love shayari hindi shayari

ये जीवन तेरी याद में बिताना है मुश्किल
मेरी जान अब तुमको भुलाना है मुश्किल

तेरे इश्क में सनम हम इतना रो चुके हैं
हंसती हुई दुनिया में मुसकाना है मुश्किल

दर्द का वजन इस कदर बढ़ चुका कि
अब जरा सी खुशी भी उठाना है मुश्किल

कहां जाएं हम इस उदासी को लेकर
तुझे गमजदा चेहरा दिखाना है मुश्किल

किस-किसको समझाएं, सब हमसे खफा हैं
अब अपने ही घर में ठिकाना है मुश्किल

©RajeevSingh #love shayari