Category Archives: माशूक शायरी

शायरी – अपनी यादों के टूटे आईने में

love shyari next

बहुत रोता है दिल सूनी रातों में
गजल लिखता हूं सूनी रातों में

जहर चढ़ता है मेरे नस-नस में
खुद को डसता हूं सूनी रातों में

अपनी यादों के टूटे आईने में
तुमसे मिलता हूं सूनी रातों में

तेरे दर्द से उठ रहे शोलों से
हर पल जलता हूं सूनी रातों में

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

Advertisements

शायरी – तू ही तू मुझको याद आया

love shyari next

जहां भी देखा गम का साया
तू ही तू मुझको याद आया

ख्वाबों की कलियां जब टूटी
ये गुलशन लगने लगा पराया

दरिया जब-जब दिल से निकला
एक समंदर आंखों में समाया

मेरे दामन में कुछ तो देते
यूं तो कुछ नहीं मांगा खुदाया

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – झूठ भी बोलता हूं तुमको हंसाने के लिए

love shayari hindi shayari

आईने में अपनी तस्वीर बनाने के लिए
हम तरसते हैं तुमसे नजर मिलाने के लिए

हमारे प्यार को जमाने में जगह न मिली
चलो कहीं और नशेमन बनाने के लिए

दुनिया के रिश्ते फकत दौलत के तकाजे हैं
कौन जीता है किसी पे खूं बहाने के लिए

तेरे रू ब रू मैं रोज ये जुर्म करता हूं
झूठ भी बोलता हूं तुमको हंसाने के लिए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मैं तो तेरी हर अदा पे कविता लिखता

मैं तो तेरी हर अदा पे कविता लिखता

काश हमको संग जीने का मौका मिलता

 

दिल में पड़े सभी गांठ खुल ही जाते

अगर तेरी उंगलियों का सहारा मिलता

 

मेरे जज्बात हैं मासूम बच्चों की तरह

ये रोते नहीं जब आंचल का किनारा मिलता

 

वो चांदनी जब निकल आती मेरे आंगन में

हमको अपने घर में भी उजाला मिलता

शायरी – तेरे इक नजर से हाय मैं बर्बाद हो गई

new prev new shayari pic

तू किस शहर से आया है ऐ दिल के बादशाह
अरमानों को जगाया है ऐ दिल के बादशाह

तेरे इक नजर से हाय मैं बर्बाद हो गई
मुझे इश्क में फना किया ऐ दिल के बादशाह

अब और न तड़पा मुझे ऐ मेरे कातिल
मर जाऊंगी मैं तेरे बिन ऐ दिल के बादशाह

ये महल लग रहा है मुझे सोने का पिंजरा
मेरे रूह को आजाद कर ऐ दिल के बादशाह

©राजीव सिंह शायरी

शायरी – मुझे दर्द की तलाश में तुम मिल ही गए

love shyari next

मुझे दर्द की तलाश में तुम मिल ही गए
मेरे तन्हा सी राह में तुम मिल ही गए

चांद निकला है प्यास की दो दरिया में
इन निगाहों के आईने में तुम मिल ही गए

हर खामोशी में किसी गम का फसाना है
हिज्र की हर दास्तां में तुम मिल ही गए

अक्सर इबादतों में तेरा नाम लेता हूं
मेरे मसजूद की सूरत में तुम मिल ही गए

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari