Category Archives: मुहब्बत शायरी

shayari – इश्क की सारी रस्में निभाकर बैठा हूं

shayari latest shayari new

बेवफा से वफा शायरी इमेज

देखिए यहां सब जी रहे हैं अपनी धुन में
और मैं खामोश तूफानों के अंदर बैठा हूं

सब तारीफ कर रहे हैं मेरी महफिल में
शायद शरीफ होने का गुनाह कर बैठा हूं

मतलब की दुनिया से दूर रहता हूं इतना
कि मैं सबको खुद से खफा कर बैठा हूं

दूसरों को नसीहत दिया करता था कभी
मगर खुद बेवफा से वफा कर बैठा हूं

दिल को तोड़ने वाली शायरी

मैंने मोहब्बत सिर्फ एक से की अब तक
इश्क की सारी रस्में निभाकर बैठा हूं

वो शायद कभी मिल नहीं पाएगी मुझे
मैं मुकद्दर में ये बात लिखवाकर बैठा हूं

मेरी बातों में बहुत मोहब्बत झलकती है
क्या कहूं, अपना दिल तुड़वाकर बैठा हूं

मुझे चैनो सुकून हासिल कहां जिंदगी में
मैं रातों में बड़ी देर तक जागकर बैठा हूं

दिल जलाकर शायरी इमेज

हो जाए शायद रोशनी मुझसे दुनिया में
इसलिए मैं अपना दिल जलाकर बैठा हूं

मुझे गिला किसी से नहीं, मेरे अपनों से है
वैसे तो दुश्मनों का भी भला कर बैठा हूं

इस दुनिया में ज्यादा शरीफ लोग रहते हैं
मैं यहां से निकलने का इरादा कर बैठा हूं

इस जहां में वो ना मिल सकी तो क्या हुआ
मैं सितारों में मिलने की वादा कर बैठा हूं

shayari green pre shayari green next

Advertisements

तुमसे जुदा होकर मेरे पास क्या रह जाएगा – शायरी फोटो

new prev new shayari pic

आंखों की शायरी इमेज
आंखों की ख्वाहिश है कि तुझे एक बार देखूं
तभी तेरे आशिक को जरा सुकून मिल पाएगा

prev shayari green next shayari green

शायरी – उसके सिवा क्या पाने को था

love shyari next

जीने का मजा उसी ने है दी
मरने की सजा उसी ने है दी

उसके सिवा क्या पाने को था
खोने की दुआ उसी ने है दी

खयालों से उठते हुए दर्द को
बढ़ने की दवा उसी ने है दी

देखकर जिसे मैं इबादत करूं
आंखों में खुदा उसी ने है दी

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – दिल लगाना भी सजा होता है

love shayari hindi shayari


दिल लगाना भी सजा होता है
तेरे दर पे ये सिला मिलता है

मैंने क्या-क्या ना किए तेरे लिए
तुझे खोजूं तो गिला मिलता है

जब गुजरता हूं गली से तेरी
तेरा घर बंद किला मिलता है

बुत तो जिंदा रही खामोशी से
कोई मंदिर में जला मिलता है


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – राह पे जब तू साथ न आया

love shayari hindi shayari


तेरा दामन मेरे हाथ न आया
तुझपे भी कोई दाग न आया

पीछे मुड़के अब क्या देखूं
राह पे जब तू साथ न आया

रख ली हथेली पे माथे को
दर्द को जब दिल झेल न पाया

मेरी आंखें तुमसे जुदा हैं
रात हुई पर चांद न आया


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – कैसे हो गई तेरी वफा कम

love shyari next

चांद ने मुझसे मुहब्बत की तो
सब तारे हो गए मेरे दुश्मन

मुझको कोई भी क्या देगा
देख चुके हैं सबका दामन

तुम अपनी नजरों से बताना
फूल पे आंसू हैं या शबनम

दिल में तेरे दर्द है फिर भी
कैसे हो गई तेरी वफा कम

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari