Category Archives: याद शायरी

शायरी – क्या इश्क मिटा पाएगी तेरी जुदाई

love shayari hindi shayari

लिबास में कबसे पहन ली बेवफाई
ऐ नाजनीं दिखा दी ये कैसी बेहयाई

दिल मेरा तोड़कर सुनो ऐ जानेवाले
क्या इश्क मिटा पाएगी तेरी जुदाई

मुझको तो अब कोई शिकवा नहीं है
नहीं सुनना है तेरी ये झूठी सफाई

दर्द हो चुकी है अब ये जिंदगी मेरी
जिंदा है सिर्फ मेरे रूह की तन्हाई

©RajeevSingh # love shayari

Advertisements

शायरी – कैसे सहूं इस दर्द को मुझको जरा बताओ ना

कैसे सहूं इस दर्द को मुझको जरा बताओ ना

अपनी तरह ये जिंदगी जीना मुझे सिखाओ ना

 

तुम किस तरह सहती हो, दिन-रात जीवन के सितम

सीने में दुख सहेजकर जीती हो कैसे ऐ सनम

दिल में छुपे क्या राज हैं मुझको जरा सुनाओ ना

 

अपनों ने तुमको गम दिये, दुनिया तेरी बनी दुश्मन

हजार जख्म खाके भी खामोश क्यों हो ऐ सनम

मेरे सामने भी उदास हो, नजरें उठा मुसकाओ ना

कैसे सहूं इस दर्द को मुझको जरा बताओ ना

शायरी – छुप सकी है क्या कोई हु्स्न किसी शायर से

मैं अपनी आह में जिंदा हूं एक मुद्दत से

मुझे मिला है बस दर्द अपनी किस्मत से

 

पी लिया जहर मगर जान बच गयी थी मेरी

गम ही बस दिल में रहे, मौत न हुई मुद्दत से

 

एक तमन्ना है जिसे गाके, सुनाऊंगा तुझे

ये गजल लिखके रखी हैं हमने मुद्दत से

 

छुप सकी है क्या कोई हु्स्न किसी शायर से

तुम नकाबों में भले रह रही हो मुद्दत से

शायरी – रोशनी के लिए तेरी याद जला लेते हैं

love shyari next

जख्म खाकर ही अपनी भूख मिटा लेते हैं
आंसू पीकर ही अपनी प्यास बुझा लेते हैं

झलकता है हर आईने में खुदगर्ज कोई
अपने चेहरे से हम आंखें हटा लेते हैं

मेरी रातों को दीपक की जरूरत ना रही
रोशनी के लिए तेरी याद जला लेते हैं

लोग मरते रहे जन्नत की खुशियों के लिए
और हम हैं कि अपना हर दर्द बढ़ा लेते हैं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari