Category Archives: रिश्ता शायरी

रिश्तों को निभाने की मजबूरी पुरानी है

shayari latest shayari new

रिश्तों को निभाने की मजबूरी पुरानी है
जिंदगी तो जैसे समझौतों की कहानी है

दुनिया के अंदर तो धोखे का समंदर है
यहां करते हैं वफा, मिलती बदनामी है

यार बनाकर जिसने मेरा खून किया
उसके चेहरे पर शिकन न परेशानी है

जहां अक्ल वालों की महफिल है वहां
जिधर देखिए दिलवालों की नाकामी है

©rajeevsingh             शायरी

shayari green pre shayari green next

Advertisements

फोटो – फिर भी पैदा हो रहे लैला मजनू बस्ती में

new prev new shayari pic

दीवानों को पत्थर शायरी इमेज
दीवानों को देखते ही पत्थर ही मारेंगे वो
और क्या उम्मीद रखें लोगों के हुजूम से

prev shayari green next shayari green

शायरी – क्यों रोते हैं सब मेरी जिंदगी के मुस्कुराने से

new prev new shayari pic

सोचा मगर समझ न सका ये राज जमाने से
क्यों रोते हैं सब मेरी जिंदगी के मुस्कुराने से

अपना दुखड़ा ही रोते रहते हैं रिश्तेदार मगर
वो खूब हंसते हैं अपनों के बरबाद हो जाने से

किस बात की जलन दिलों में पालते हैं लोग
क्या मिलता है उन्हें दूसरों का घर जलाने से

जिनको बहुत कुछ पाकर भी खुश नहीं देखा
वो मेरी फकीरी पर बाज नहीं आए झल्लाने से

©राजीव सिंह शायरी

शायरी- रोशनी हुस्न की पायी जबसे

prevnext

किसी दामन का क्या भरोसा है
हमको दुनिया का तजरबा है

रोशनी हुस्न की पायी जबसे
दिल की तस्वीर में अंधेरा है

उतर आया हूं गहरे सागर में
अब तो आंसू का ही सहारा है

क्यूं परायों से हम खुशी मांगें
जब मेरा गम ही मुस्कुराता है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

 

शायरी – ढ़ाई अक्षर प्रेम का पढ़के

love shyari next

बादल के टुकड़े हैं इतने
धरती पे प्यासे हैं कितने

जिस्म तो बस एक मिला है
पाया अंदर रूप हैं कितने

ढ़ाई अक्षर प्रेम का पढ़के
रह गए तन्हा ही कितने

हैरां हूं मैं गिनते-गिनते
आईने में तस्वीर हैं कितने

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – जब कभी महसूस होता है सीने में दर्द सा

खोना था जिसको आंखों से, खो गया सो खो गया

आंसू तो फिर मिल जाएंगे, बह गया सो बह गया

 

जिंदगी के रास्तों में चांद ठहरा था फलक पर

हम भी तन्हा थे रातों में, वो भी तन्हा रह गया

 

जब कभी महसूस होता है सीने में दर्द सा

सोचता हूं फूल में कांटा कहां से आ गया

 

कोशिश की बुझने की तो आप आके जला गए

दिल मेरा जलता रहा, आपका साया खो गया

शायरी – ये मेरा हुस्न निखर जाएगा आपको देखकर

love shyari next

आप जब तक रहेंगे आंखों में नजारा बनकर
रोज आएंगे मेरी दुनिया में उजाला बनकर

मेरी तन्हाई अब तक मुझे जीने नहीं देती थी
आप आए हैं मेरे जीने का सहारा बनकर

ये मेरा हुस्न निखर जाएगा आपको देखकर
करीब आइए मेरी चाहत का आईना बनकर

हम तो बस डूब ही जाते अश्क की दरिया में
मगर आए हैं आप दरिया का किनारा बनकर

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – सर उठाओ मेरे महबूब कि मेरा चांद निकले

love shayari hindi shayari

आज खो बैठे हो क्यूं अपनी पहली सी नजर
कैसा गम है जिसमें बदली है गहरी सी नजर

मेरी आंखों में जरा देखो तो मैं भी देखूं
क्यूं भला अश्क में डूबी है ठहरी सी नजर

सर उठाओ मेरे महबूब कि मेरा चांद निकले
तू करीब आके जला दे मेरी बुझती सी नजर

इस तरह चुप न रहो, मुझसे कुछ तो बोलो
कब तलक यूं छुपाओगे ये बहती सी नजर

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – तू न आई तो तेरी याद में मर जाएंगे

love shayari hindi shayari

हम इंतजार की हर हद से गुजर जाएंगे
तू न आई तो तेरी याद में मर जाएंगे

पनाह मांगती हैं खुशियां मेरे दिल में
पर तेरे दर्द के खातिर उसे ठुकराएंगे

अब तो हर सिलसिला ठहरा सा लगता है
हम किसी मोड़ पे तुझे बैठे मिल जाएंगे

मौत की सरहदों से अब हम नहीं डरते
शायद उस पार ही अब तुमसे मिल पाएंगे

©RajeevSingh #love shayari

शायरी – अपने ही रिश्तों में रहती है ख्वाहिशें इतनी

love shayari hindi shayari

प्यार पाने को शहर के लोग जाते हैं तरस
ये प्यासे लोग क्या जी सकेंगे सौ बरस

अपने ही रिश्तों में रहती हैं इतनी ख्वाहिशें
पूरी न हो तो करते हैं सब एक-दूजे से बहस

घंटों वो परेशान रहे खुशियों की तलाश में
पाया नहीं एक पल भी किसी खुशी का दरस

दुनिया इसी में रफ्ता-रफ्ता मरती जा रही है
शायर की नजर से देखा है जमाने का ये सच

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – थे करीब हम-तुम लेकिन बंदिशें थी बेहिसाब

love shayari hindi shayari

क्यूं है सर्द-सर्द चांद, क्यूं है जलता आफताब
क्यूं हैं ये खामोश तन्हा, कौन दे इसका जवाब

कुछ दिनों तक लिख न पाया मैं कोई भी गजल
उन दिनों मैं भूल गया करना जख्मों का हिसाब

तेरी यादों संग बैठा अपने चमन की वीरानी में
उजाड़कर ले गयी ये दुनिया मेरे बगीचे का गुलाब

फासला दो-चार कदम का तय न कर पाए कभी
थे करीब हम-तुम लेकिन बंदिशें थी बेहिसाब

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – तुम थी मिली उस मोड़ पे, जिस मोड़ पे कोई न था

love shayari hindi shayari


अपने भी सारे गैर थे, गैरों में अपना कोई न था
तुम थी मिली उस मोड़ पे, जिस मोड़ पे कोई न था

तेरे वजह से गीत के सुर-ताल को मैं पा सका
पहले तो बस लफ्ज थे पर लय उनमें कोई न था

तुम मशाल हो अंधेरे में तो रोशनी मेरे दिल में है
सारे चिराग बुझ गए, तेरे सिवा और कोई न था

मैं आज तुमसे दूर हूं, तुमपे गजल मैं लिख रहा
तुम जब जुदा हुए थे तब मेरा हमसफर कोई न था


©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – मैं न जानूं कि ये किसकी दास्तां है

love shayari hindi shayari

न रिश्ता है कोई, न नाता है कोई
मगर मेरे दिल को सताता है कोई

मैं न जानूं कि ये किसकी दास्तां है
जिसे मेरा कहकर लिखाता है कोई

सीने को गम की पायल पहनाकर
मेरी जिंदगी को नचाता है कोई

यही राह दिल तक उसे ले गई है
इसी सांस में आता-जाता है कोई

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari