Category Archives: शेरो शायरी

शायरी – मुंह मोड़ गए थे तुम मेरी मायूस सूरत देखकर

love shyari next

ढूंढकर पाएंगे क्या हम दुनिया के घर-बार में
क्या मिलेगा दिल को इस दौलत के बाजार में

बस पूछते हैं सब यही काम क्या करता हूं मैं
कहता हूं दिल पे हाथ रख, मैं हूं इसके बेगार में

मुंह मोड़ गए थे तुम मेरी मायूस सूरत देखकर
तूने भी ये देखा नहीं कि क्या है दिले-बीमार में

तन्हाइयों की रात में हम सो नहीं पाए कभी
बस छत पे टहलते रहे सोए हुए संसार में

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – आग को सीने में रखना दिलजलों का काम है

love shyari next

आग को सीने में रखना दिलजलों का काम है
अपने ही आंसू से जलना दिलजलों का काम है

छुप गए थे हाले-दिल चांद-तारों की भाषा में
खामोशी से सब कुछ कहना दिलजलों का काम है

साथ चला है एक साया संग मेरे एक दिशा में
आठों पहर तन्हा भटकना दिलजलों का काम है

दुनिया जिनको ठुकराती है पागल और बर्बाद समझके
उनसे ही दो बातें करना दिलजलों का काम है

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – सुन लो मैंने क्या सीखा है तेरे ही आईने से

love shyari next

देखता हूं आईना, देखता हूं कुछ नहीं
अपनी सूरत के बारे में सोचता हूं, कुछ नहीं

सुन लो मैंने क्या सीखा है तेरे ही आईने से
देखता हूं मैं बस तुमको, बोलता हूं कुछ नहीं

देखना गर देखना हो, देख लेना खुद ही को
आखिर में तुम पाओगी, आईना है कुछ नहीं

देखना भी एक हुनर है, आईना है निगाहों में
अपने अंदर जब-जब देखा, बाहर देखा कुछ नहीं

©RajeevSingh # love shayari #share photo shayari

शायरी – साहिलों की तरह तुम मिले थे कहीं

love shayarinext

रेत पर हर कदम की निशानी लिखो
इन लहरों की प्यासी रवानी लिखो
इस समंदर के संग-संग चलते हुए
मेरे शायर तुम मेरी कहानी लिखो

आरजू बन गई है ये ठंडी हवा
खींचकर ले चली है ये जाने कहां
हो रहे हैं दिल में अब अरमां जवां
ऐसे एहसास को तुम जवानी लिखो

साहिलों की तरह तुम मिले थे कहीं
मेरे आंसू की लहरें बहे थे वहीं
तुम भी हो ऐ मेरे दिल रेतीली जमीं
ऐसे मंजर को तुम जिंदगानी लिखो

इस साहिल के रेतों पर चलते हुए
मेरे शायर तुम मेरी कहानी लिखो।

©RajeevSingh